ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिग सेवाओं के लिये IPPB की HDFC बैंक के साथ साझेदारी

216

कोटा। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (India Post Payments Bank) एवं एचडीएफसी बैंक(HDFC Bank) ने अर्धशहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में आईपीपीबी (IPPB) के ग्राहकों को विभिन्न बैंकिग उत्पादों एवं सेवाओं के लिये साझेदारी है। इस साझेदारी के तहत बगैर बैंक एवं कम सेवा वाले क्षेत्रों को लक्षित किया गया है। आईपीपीबी के 4.7 करोड़ से ज्यादा ग्राहक है जिनमें लगभग 90 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों में रहते है, इस साझेदारी से लाभान्वित होने की उम्मीद है।

यह रणनीतिक गठबंधन आईपीपीबी को अपनी अभिनव डोर स्टेप बैंकिग सेवा के माध्यम से पहुंच कायम कर उन्हें वित्त तक पहुंच सहित वहनीय एवं विविधिकृत पेशकश प्रदान करेगा। माइक्रोएटीएम्स एवं बायामैट्रिक उपकरणों से सुसज्जित 2 लाख डाक सेवा प्रदाताओं के साथ आईपीपीबी विभिन्न ग्राहक वर्गाे की जरूरतों और आवश्यकताओं को पूरा करता है, साथ ही एक सहायक बैंकिग मॉडल को सक्ष्म करके अंतिम छोर तक डिजिटल अपनाने को आसान बनाने के लिये भी प्रतिबद्ध है।

एमओयू पर बोलते हुए, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के प्रबंध निदेशक और सीईओ, जे वेंकटरामु ने कहा, “आईपीपीबी देश भर में वित्तीय समावेशन परिदृश्य को लगातार बदल रहा है और नया आकार दे रहा है। हमारा प्रयास विभिन्न नागरिक-केंद्रित सेवाओं के लिये एक एकीकृत मंच का निर्माण करना है, जिसमें ऋण देने वाले भागीदारों के सहयोग से डिजिटल प्रौद्योगिकियों और वैकल्पिक डेटा स्रोतों का लाभ उठाकर डोर स्टेप क्रेडिट शामिल है।

गठजोड़ पर स्मिता भगत, कंट्री हेड जीआईबी, सीएससी, ई-कॉमर्स, स्टार्ट-अप्स और इंक्लूसिव बैंकिंग इनिशिएटिव्ज ग्रुप, एचडीएफसी बैंक ने कहा, एचडीएफसी बैंक का यह गठबंधन अपने श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ उत्पादों और सेवाओं को भारत के दूरस्थ कोनों में लाखों आईपीपीबी ग्राहकों तक पहुंच कायम करने का अवसर प्रदान करेगा।

आईपीपीबी का उत्पाद पोर्टफोलियो व्यापक है और इसमें बचत और चालू खाता, 24×7 तत्काल धन हस्तांतरण, आधार सक्षम भुगतान प्रणाली, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना सहित डीबीटी और छात्रवृत्ति का भुगतान, बिल और उपयोगिता भुगतान, डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र, तीसरे पक्ष के उत्पाद और ऐसी अन्य सेवाएं शामिल है।