568 अरब डॉलर के ऊपर पहुंचा देश का विदेशी पूंजी भंडार

0
36

नई दिल्ली। देश का फॉरेक्स रिजर्व फिर एक नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से शुक्रवार को जारी हुए आंकड़े के मुताबिक 6 नवंबर को समाप्त सप्ताह में यह 7.779 अरब डॉलर के उछाल के साथ 568.494 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इससे पहले 30 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में भी यह 18.3 करोड़ डॉलर उछलकर 560.715 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक पहली बार 5 जून 2020 को समाप्त हुए सप्ताह में फॉरेक्स रिजर्व 500 अरब डॉलर के पार पहुंचा था।

विदेशी मुद्रा संपत्ति (फॉरेन करेंसी असेट्स) में भी भारी उछाल दर्ज किया गया है। फॉरेन करेंसी असेट्स (FCA) 6.403 अरब डॉलर बढ़कर 524.742 अरब डॉलर पर पहुंच गया। FCA को डॉलर में लिखा जाता है, लेकिन विदेशी मुद्रा संपत्तियों में मौजूद यूरो, पाउंड और येन जैसी गैर-डॉलर मुद्रा संपत्ति के वैल्यू में उतार-चढ़ाव का भी इस पर असर होता है।

गोल्ड रिजर्व का वैल्यू 1.328 अरब डॉलर बढ़ा
गोल्ड रिजर्व का वैल्यू इस दौरान 1.328 अरब डॉलर बढ़कर 37.587 अरब डॉलर हो गया। इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (आईएमएफ) में देश का स्पेशल ड्रॉइंग राइट्स (SDR) 70 लाख डॉलर बढ़कर 1.488 अरब डॉलर हो गया। आईएमएफ में देश का रिजर्व पोजिशन भी 4 करोड़ डॉलर बढ़कर 4.676 अरब डॉलर पर आ गया।

31 मार्च से अब तक फॉरेक्स रिजर्व में 90.687 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है
आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक गत एक साल में देश का फॉरेक्स रिजर्व 120.686 अरब डॉलर बढ़ा है। इसी तरह 31 मार्च 2020 के मुकाबले फॉरेक्स रिजर्व में 90.687 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। फॉरेन करेंसी असेट्स भी गत एक साल में 108.914 अरब डॉलर और 31 मार्च 2020 के बाद से 82.53 अरब डॉलर बढ़ा है।