कापरेन पुलिस ने 4 लाख का मिलावटी मिल्क केक पकड़ा

0
51

केशोरायपाटन। कापरेन पुलिस ने हरियाणा से कोटा जा रहा मिलावटी मिल्क केक से भरा डाक पार्सल ले जाने वाला एलपीटी कंटेनर पकड़ने में सफलता हासिल की है। कंटेनर में करीब 12 सौ किलो मिलावटी मिल्क केक भरा हुआ था, जिसकी बाजार कीमत चार लाख बताई जा रही हैं।

कंटेनर हरियाणा से एस के फूड प्रोडक्ट राजियावास रोड बावल हरियाणा की फर्म द्वारा कोटा के चार बड़े मावा विक्रेताओं को सप्लाई करने के लिए लेकर जा रहा था। थानाधिकारी हरलाल मीणा द्वारा नकली मिठाई से भरा कंटेनर पकड़ने की सूचना के बाद खाद्य एव चिकित्सा, डेयरी, रसद, विभाग के अधिकारी कापरेन थाने पर पहुंचे और मिठाई का सैम्पल लेकर जांच होने तक कंटेनर एव मिल्क केक को पुलिस को सुपुर्द किया गया।

थानाधिकारी हरलाल मीणा ने बताया कि अल सुबह साढ़े तीन बजे करीब पुलिस गश्त करते हुए बाझडली रेलवे फाटक मेगा हाइवे से वापस आते हुए हाइवे पर हरियाणा नम्बर का कंटेनर कोटा की ओर आता हुआ दिखाई दिया। बाहर का नम्बर होने और तेज गति होने से सन्दिग्ध मानते हुए पीछा किया गया तो कापरेन रेलवे फाटक के समीप हाइवे पर कंटेनर को रोका गया। पूछताछ में चालक नरेश कुमार निवासी चौक थाना बावल जिला रेवाड़ी हरियाणा और सहायक चालक विजय कुमार निवासी सुनारी जिला मेवात हरियाणा द्वारा कंटेनर में मिल्क केक मिठाई होना बताया गया।

कंटेनर में मिलावटी मिठाई की शंका होने से जप्त करते हुए थाने पर पहुंचाया गया और खाद्य विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई। सूचना के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारी गिरिराज शर्मा के नेतृत्व में चिकित्सा विभाग के नरेश कुमार, डेयरी सुपरवाइजर अधिकारी रामस्वरूप मीणा और रसद विभाग की नीरज मीणा प्रवर्तन निरीक्षक मौके पर पहुंचे. कंटेनर में भरी मिठाई की जांच करते हुए सैम्पल लिया गया।

साथ ही मौके पर मौजूद कंटेनर के सहायक चालक से जानकारी लेने के बाद खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई औऱ कंटेनर में भरी करीब 12 सौ किलो मिठाई जप्त कर पुलिस को सुपुर्द की गई। खाद्य सुरक्षा अधिकारी गिरिराज शर्मा ने बताया कि कंटेनर में मिलावटी मिल्क केक भरा हुआ है, जो हरियाणा की फर्म एस के फूड प्रोडक्ट द्वारा कोटा की चार बड़ी फर्मो महावीर मीणा सांगी धर्मशाला नयापुरा, दिनेश मावा गुमानपुरा, धीरज कुमार हीरा पेट्रोल पम्प के पास गुमानपुरा और अग्रवाल मावा भण्डार गुमानपुरा को सप्लाई देने के लिए ले जाया जा रहा था।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि मिल्क केक कोटा की चारों फर्मों को 160 रुपये प्रति किलो की दर से दिया जाना था, जिसके बिल चालक के पास मिले हैं। बाजार में शुद्ध मिल्क केक दो से चार सौ रुपये किलो मिलता है। दो लाख का मिलावट वाला मिल्क केक बाजार में शुद्ध मिल्क केक की कीमत पर बेचने पर चार लाख से भी अधिक का होगा।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि मिल्क केक सप्लाई करने वाली एस के फूड प्रोडक्ट हरियाणा की फर्म के खिलाफ फूड सेफ्टी एक्ट में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई हैं। साथ ही सप्लाई मंगवाने वाली कोटा की चारो फर्मों, चालक, सहायक को भी जांच में लिया गया हैं.। खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि कंटेनर का मालिक व चालक नरेश कुमार थाने तक आने के बाद सहायक चालक विजय कुमार को थाने पर बिठाकर स्वयं मौके से फरार हो गया।