सीएमए का कोर्स अब हिंदी के साथ क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगा

49

कोटा। दी इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने 39 तरह के कोर्स शुरू किये हैं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 2020 में एजुकेशन पॉलिसी में बदलाव किया है। इसी के साथ इंस्टीट्यूट ने भी अपने कोर्स में बदलाव करने का काम शुरू कर दिया था। यह जानकारी इंस्टीट्यूट के वाइस प्रेसिडेंट राकेश भल्ला ने मंगलवार को पत्रकारों को दी।

उन्होंने बताया की एक लेबल तक पढ़ाई के लिए रीजनल लेंग्वेज भी जरूरी है। सीएमए अपने कोर्स हिंदी में भी शुरू करने के साथ ही रीजनल लेंग्वेज में अपने कोर्स शुरू करेगी। सीएमए ने नई शिक्षा पॉलिसी में बदलाव के साथ ही 35 तरह के कोर्स शुरू किये हैं।

उन्होंने बताया कि अभी तक इंडस्ट्रीज के हिसाब से काम करने वाले नहीं मिलते थे। नए लोगों को इंडस्ट्रीज के हिसाब से तैयार करने के लिए ट्रेनिंग देनी पड़ती है। लेकिन नई शिक्षा पॉलिसी को केंद्र सरकार ने रोजगार से जोड़ दिया है। इससे अब नए लोगों को इंडस्ट्रीज के हिसाब से तैयार करने के लिए ट्रेनिंग का समय बचेगा। उन्होंने बताया कि सीएमए ने डिजिटेलाजेशन पर जोर दिया है। इसी के तहत कोविड के समय सीएमए ने ऑनलाइन एग्जाम कराये हैं।

वाइस प्रेसिडेंट भल्ला ने बताया कि इंस्टीट्यूट के देश भर में 116 चेप्टर हैं। 61 सपोर्टिंग सेंटर है। देश के बाहर लंदन, दुबई और श्रीलंका समेत 11देशों में सेंटर हैं। इनके अलावा सीएमए के दो एक्सीलेंस सेंटर, 4 महानगरों में रीजनल कॉउंसिल सेंटर, 90 हजार प्रोफेशनल और 5 लाख स्टूडेंट्स हैं।

इंस्टीट्यूट के चैयरमेन हरकेश तारा ने बताया कि पहले दुनिया भर के लोग ज्ञान प्राप्त करने भारत आते थे। लेकिन अब हमारे बच्चे शिक्षा प्राप्त करने के लिए विदेश जा रहे हैं। सरकार बच्चों में स्किल डेवलेप करने की दिशा में काम कर रही है, जो सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि सीएमए कोर्स टफ है। बच्चों के हिसाब से आसान बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 2022 से इंस्टीट्यूट ने कोर्स में बदलाव पर काम शुरू कर दिया है। कोई भी लेंग्वेज अपनी तरक्की में बाधक नहीं होनी चाहिए।

कोटा चेप्टर के चैयरमेन आकाश अग्रवाल ने बताया कि नई एजुकेशन पॉलिसी रोजगारपरक साबित होगी। बहुत से अभिभावकों और बच्चों को सीएमए कोर्स के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, जबकि सीएमए करने वालों का भविष्य उज्जवल है। सीएमए एसएन मित्तल ने कहा कि इंस्टीट्यूट की रजिस्ट्रेशन और उसके हेड ऑफिस के बारे में जानकारी दी।

सेमिनार आयोजित :सीएमए कोटा चेप्टर की ओर से मंगलवार को नई शिक्षा नीति और सीएमए कोर्स में बदलाव को लेकर आयोजित सेमिनार में एनआरआईसी के चैयरमेन हरकेश तारा, वाइस चैयरमेन राजेंद्र सिंह, ICAI CMA के वाइस प्रेजिडेंट राकेश भल्ला, पूर्व चैयरमेन एवं वर्तमान चैयरमेन प्रोफेशनल डेवलपमेन्ट कमेटी नॉर्थन रीजन सीएमए शैलेन्द्र पालीवाल, सीएमए एसएन मित्तल, कोटा चेप्टर के चेयरमैन आकाश अग्रवाल, ज्वाइंट सेक्रेट्री जय बंसल, वाइस चेयरमैन सत्यवान शर्मा, चैप्टर वाईस चैयरमेन सुरेंद्र प्रकाश गुप्ता, तपेश माथुर, ट्रेजरार एके जेथलिया और विशिष्ट आमन्त्रित कॉमर्स कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ संगीता सुनीजा आदि ने भाग लिया।