कोटा में नकली वेल्डिंग रॉड बनाने की फैक्ट्री पर छापा, 6.50 लाख का माल पकड़ा

0
49
डुप्लीकेट ब्रांड की वेल्डिंग रॉड बरामद।

कोटा। विज्ञाननगर पुलिस ने शनिवार को रोड नंबर-5 स्थित वेल्डिंग रॉड बनाने के कारखाने पर छापा मारा। मौके से कुल 567 बॉक्स माल जब्त किया गया है, जो करीब 6.50 लाख मूल्य का बताया जा रहा है। यह रॉड ब्रांड का मिस यूज करके बनाई जा रही थी। पुलिस ने धारा 63 कॉपीराइट एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है।

महावीर नगर निवासी विकास मोहता (43) पुत्र उमेश मोहता ने विज्ञान नगर थाने पर रिपोर्ट दी। जिसमें कहा इंडस्ट्रीज, जी 1/83 कुबेर इंडस्ट्रीयल एरिया रानपुर में उनकी फर्म सालासरजी पर न्यू एआरसी वेल्डिंग रोड बनाने का काम होता है। जिसका कॉपीराइट व ट्रेड मार्क क्लास 9 व क्लास 7 उन्होंने लिया हुआ है और उसके उत्पादन व विक्रय का अधिकार सम्पूर्ण भारत में उन्हें प्राप्त है।

प्रकाश इलेक्ट्रॉडस प्राइवेट लि. द्वारा कॉपीराइट ब्रांड न्यू एआरसी का हुबहू नकली वेल्डिंग रोड न्यू एआरसी के नाम से एफ-147 इन्द्रप्रस्थ इंडस्ट्रीज एरिया रोड नंबर 5 पर उत्पादन कर बाजार में बेचा जा रहा है, जिसका अधिकार उन्हें नहीं है। पुलिस ने फैक्ट्री में छापामार कार्रवाई कर दी।

फरियादी विकास मोहता ने बताया कि उनके ब्रांड का हुबहू कॉफी कर सस्ता माल बाजार में बेचा जा रहा था। इसका पता उन्हें नहीं था। वेल्डिंग इलेक्ट्रोड की कोटा में 7-8 यूनिट है, जिसमें बिहार में अधिक क्वांटिटी में हमारी कंपनी से माल जाता है। बिहार में रेगुलर बेसस पर सिर्फ हम ही माल बेचते हैं, इसलिए ट्रांसपोर्ट्स हमारे संपर्क में रहते हैं। अभी हमने ऐसा कोई माल नहीं बेचा था तो हमारे यहां माल लोड होने के लिए कोई ट्रक भी नहीं लगा। लेकिन, हमारे पास ट्रांसपोर्ट्स के बिहार माल लोड होने के फोन आने लग गए।

तब हमें शंका हुई क्योंकि हमने तो कोई ऑर्डर किया नहीं और इतना माल हमारे सिवाएं कोई भेजता नहीं। हमें लगा मार्केट में कोई नया व्यापारी आ गया, हमने अपने सोर्स से पता किया तो पता चला कि हमारे ब्रांड नाम का यूज करके माल बेचा जा रहा था। प्रकाश इलेक्ट्रॉड्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा एक साथ 30 टन माल बिहार में ट्रांसपोर्ट किया जा रहा था। इसके बाद इसकी सूचना विज्ञाननगर थाना पुलिस को दी गई।

विज्ञान नगर सीआई अमर सिंह ने बताया कि हमारे को विकास मोहता द्वारा शिकायत दी गई, जिस पर केस दर्ज करके छापा मारा तो वहां पर शिकायतानुसार कार्य पाया गया। माल को जब्त करके जांच शुरू कर दी गई हैं। कुल 567 बॉक्स माल जब्त किया गया हैं, जो करीब 6.50 लाख मूल्य का बताया जा रहा है। दिग्विजय सिंह व निक्का सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।