दिल्ली बाजार / घरेलू मांग निकलने से सरसों, पाम तेल, सोयाबीन में सुधार

0
205

नई दिल्ली। घरेलू मांग बढ़ने और मंडी में किसानों द्वारा कम कीमत पर अपनी फसल नहीं बेचने के कारण स्थानीय तेल तिलहन बाजार में बुधवार को सरसों में सुधार देखने को मिला। लोगों में स्वास्थ्य के प्रति बढ़ती जागरूकता के कारण सरसों तेल की मांग बढ़ी हैं। वहीं छोटे रेस्त्राओं और कारोबारी प्रतिष्ठानों में आयातित सस्ते तेलों की मांग बढ़ी है।

बाजार सूत्रों का कहना है कि विदेशों से पॉम तेल और सोयाबीन के बढ़ते आयात से घरेलू उत्पादक किसान और उद्योग दबाव में हैं। देश में मूंगफली, सूरजमुखी और सोयाबीन का लाखों टन का स्टॉक पड़ा है जो सस्ते आयात और मंडियों में भाव कम होने की वजह से खपाया नहीं जा सका है। वायदा कारोबार में सोयाबीन के अक्टूबर अनुबंध का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य से लगभग सात प्रतिशत नीचे है जिससे सोयाबीन और सोयाबीन तेल कीमतों में गिरावट का रुख है। तेल-तिलहन के भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों तिलहन – 4,830- 4,890 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये। मूंगफली दाना – 4,650 – 4,700 रुपये। वनस्पति घी- 965 – 1,070 रुपये प्रति टिन। मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 12,220 रुपये। मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 1,835- 1,885 रुपये प्रति टिन। सरसों तेल दादरी- 10,100 रुपये प्रति क्विंटल। सरसों पक्की घानी- 1,590 – 1,730 रुपये प्रति टिन। सरसों कच्ची घानी- 1,690 – 1,810 रुपये प्रति टिन।

तिल मिल डिलिवरी तेल- 11,000 – 15,000 रुपये। सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 9,100 रुपये। सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 8,870 रुपये। सोयाबीन तेल डीगम- 8,050 रुपये। सीपीओ एक्स-कांडला-7,370 से 7,410 रुपये। बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 7,950 रुपये। पामोलीन आरबीडी दिल्ली- 8,780 रुपये। पामोलीन कांडला- 8,000 रुपये (बिना जीएसटी के)। सोयाबीन तिलहन डिलिवरी भाव 3,625- 3,650 लूज में 3,360–3,425 रुपये। मक्का खल (सरिस्का) – 3,500 रुपये प्रति क्विंटल।