पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बाद अब नहाना और कपड़े धोना भी हुआ महंगा

0
44

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बाद अब नहाना और कपड़े धोना भी महंगा हो गया है। दरअसल, देश की अग्रणी फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMGC) कंपनियां हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL) और आईटीसी (ITC) लिमिटेड ने साबुन, डिटर्जेंट सहित कई वस्तुओं की कीमतें बढाई हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने बढ़ती हुई लागतों का हवाला देते हुए कीमतों में इजाफा किया है।

ऐसे में अब आम आदमी के जेब पर और बोझ बढ़ने वाला है। बता दें कि हाल ही में पारले ने अपने बिस्किट, रस और स्नैक्स की कीमतों में बढ़ोतरी की है। इसके बाद साबुन की कीमतों में वृद्धि ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।

बताया गया कि HUL ने अपने व्हील डिटर्जेंट पाउडर के 1 किलो के पैक की कीमत में 3.4 प्रतिशत का इजाफा किया है। इससे अब डिटर्जेंट पाउडर के 1 किलो का पैक कुल 2 रुपए महंगा हो जाएगा। वहीं कंपनी ने कथित तौर पर व्हील पाउडर के 500 ग्राम पैक की कीमत में भी 2 रुपए की बढ़ोतरी की है, अब इसकी कीमत 28 रुपए से बढ़ाकर 30 रुपए हो गई है।

इसके साथ ही कंपनी ने रिन बार के 250 ग्राम पैक की कीमत 5.8 प्रतिशत बढ़ा दी है। वहीं लक्स साबुन के दाम में 21.7 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। अब 100 ग्राम का मल्टीपैक पहले से 25 रुपए महंगा हो गया है।

घायल अगर आईटीसी के उत्पादों की बात करें तो फियामा साबुन की कीमत में 10 प्रतिशत और विवेल के अपने 100 ग्राम पैक के लिए 9 प्रतिशत की कीमत बढ़ोतरी की है। कंपनी ने एंगेज डिओडोरेंट की 150 मिलीलीटर बोतल की कीमत में 7.6 प्रतिशत और 120 एमएल बोतल की कीमत में 7.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। यह खबर सामने ने के बाद से आमजन की परेशानी बढ़ गई है।