कोटा सिटी को ट्रैफिक जाम से मुक्त कराने के लिए 100 करोड़ का प्रोजेक्ट

1931

कोटा। शहर में यातायात की समस्या से राहत देने के लिए अंटाघर, एरोड्राम सर्किल और गोबरिया बावड़ी सर्किल पर बनाए जा रहे अंडरपास के बाद इन चौराहों पर वाहनों को ब्रेक लगाने की जरूरत नहीं रहेगी। एरोड्राम सर्किल पर बनाए जा रहे अंडरपास के साथ डीसीएम रोड पर एक ओर सर्किल बनाया जाएगा। इसके बनने से एरोड्राम सर्किल पर वाहनों का भार कम होगा।

पॉलीटेक्निक कॉलेज के पास से डीसीएम रोड को झालावाड़ से जोडऩे के लिए फोरलेन बाइपास का निर्माण भी किया जा रहा है। यह बाइपास डीसीएम की ओर से आने वाले वाहनों को लॉयंस भवन के पास झालावाड़ रोड से जोडेग़ा। इस तरह झालावाड़ रोड जाने के लिए डीसीएम की ओर से आने वाले वाहनों को एरोड्राम सर्किल पर जाना नहीं पड़ेगा। एरोड्राम सर्किल पर मौजूदा स्तंभों को यथावत रखा जाएगा। निर्माण के दौरान इन्हें हटाकर दोबारा स्थापित किया जाएगा। सर्किल हेरिटेज लुक दिया जाएगा।

निर्माण के लिए अर्थवर्क शुरू हो गया है। नगर विकास न्यास ने एरोड्राम सर्किल पर रोटरी की जगह खुदाई कार्य शुरू कर दिया है। यहां अंडरपास के निर्माण पर करीब 50 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसी तरह अंटाघर चौराहे पर 25 करोड़ की लागत से बनने वाले अंडरपास से स्टेशन की ओर से आने वाले और बारां से नयापुरा और नयापुरा से बारां की जाने वाले वाहनों को भी रुकना नहीं पड़ेगा।

वहीं गोबरिया बावड़ी चौराहे पर भी 25 करोड़ की लागत से इस तरह अंडरपास का निर्माण होने से यातायात निर्बाध रूप से चलेगा। गोबरिया बावड़ी से एरोड्राम सर्किल के बीच सिटी मॉल के पास 55 करोड़ की लागत से फ्लाईओवर का निर्माण होगा।