राजस्थान में सैंपलिंग घटी तो कोरोना मरीजों का आंकड़ा भी घट गया

0
100

जयपुर। राजस्थान में बीते 5 दिनों से कोरोना केसों की संख्या में लगातार कमी आ रही है, जो प्रदेश के लिए थोड़ी राहत की खबर है, लेकिन इसके पीछे प्रमुख कारण सैंपलिंग की संख्या का कम होना है। राज्य में 4 मई को सबसे ज्यादा 99,418 लोगों के सैंपल लेकर उनकी जांच की गई थी, तब इनमें से 16,974 कोरोना पॉजिटिव निकले थे, लेकिन एक सप्ताह बाद 11 मई तक सैंपलिंग घटकर 84 हजार से कम हो गई और पॉजिटिव केसों की संख्या भी 16080 पर आ गई।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने अप्रैल के दूसरे सप्ताह में यह दावा किया था- राज्य में टेस्टिंग की क्षमता बढ़ाई जा रही है और मई आने तक हम हर रोज 1 लाख से ज्यादा सैंपल की जांच कर सकेंगे। मई में केवल तीन ही दिन 4, 5 और 6 तारीख को जब सैंपल 90 हजार या उससे ज्यादा जांचे गए, उसके बाद सैंपलिंग लगातार कम होती जा रही है। सैंपलिंग कम होने के कारण संक्रमितों की संख्या में भी धीरे-धीरे कमी देखने को मिल रही है।

राजस्थान में पिछले एक सप्ताह की रिपोर्ट देखे तो सबसे ज्यादा जांचे जयपुर में हुई है। यहां हर रोज औसतन 16,388 लोगों के सैंपल लेकर जांच की जा रही है। यही कारण है कि यहां पॉजिटिव केस भी सबसे ज्यादा मिले रहे हैं। जयपुर में पिछले एक सप्ताह में 28,888 नये पॉजिटिव केस मिले हैं यानी हर रोज औसतन 4126 केस। वहीं प्रतापगढ़ जिले में पिछले एक सप्ताह में सबसे कम जांचे हुई है। यहां हर रोज औसतन 650 लोगों के ही सैंपल लेकर उनकी जांच की जा रही है, जबकि प्रतिदिन औसतन 187 पॉजिटिव केस मिले हैं। पिछले एक सप्ताह में सबसे कम केस जालौर में मिले हैं, यहां हर रोज औसतन 130 पॉजिटिव मिले हैं।