पीएम मोदी ने ट्वीट कर किया कोरोना के खिलाफ जनआंदोलन का आगाज

333

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगामी त्योहारों, ठंड के मौसम और अर्थव्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए और कोरोना के खिलाफ बचाव को लेकर एक जन आंदोलन की शुरुआत की है। पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ जंग को लेकर ट्वीट करते हुए कहा, ‘जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।’ उन्होंने सुबह-सुबह ट्वीट कर देशवासियों को कोरोना के खिलाफ एकजुट होने का आह्वान किया।

पीएम ने #Unite2FightCorona के साथ यह ट्वीट किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘आइए, कोरोना से लड़ने के लिए एकजुट हों! हमेशा याद रखें: मास्क जरूर पहनें। हाथ साफ करते रहें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। दो गज की दूरी रखें।

पीएम मोदी ने अपने एक और ट्वीट में कहा, ‘कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई लोगों के जरिए लड़ी जा रही है और हमारे COVID योद्धाओं से इस लड़ाई को बहुत ताकत मिलती है। हमारे सामूहिक प्रयासों ने कई लोगों की जान बचाई है। हमें लड़ाई जारी रखनी होगी और अपने नागरिकों को वायरस से बचाना होगा।’

दरअसल, बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में भी कोरोना के खिलाफ जनजागरुकता पर जोर दिया गया था। तब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना से बचाव का एकमात्र हथियार मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और हाथ धोना है।

उन्होंने कहा कि इसी सिद्धांत का पालन करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर इन उपायों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के अभियान को शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा, कोरोना काल में डरने की नहीं, सावधानी की आवश्यकता है। यह संदेश जन जन तक पहुंचाने के लिए जनचेतना की मुहिम चलाई जाएगी। दवा और वैक्सीन के बिना मास्क, दो गज की सुरक्षित दूरी, हाथ धोना ही सुरक्षा कवच हैं।

देश में अब तक 67.57 लाख से ज्यादा कोरोना केस आ चुके हैं। इनमें 9,07,883 मरीज अब भी इलाजरत हैं जबकि 57,44,693 मरीज कोविड-19 महामारी से मुक्त हो चुके हैं। इस महामारी ने देश में 1,04,555 लोगों की जान ले लिया है।