आज से पर्यटकों के लिए भी खुला कश्मीर, 2 अगस्त को लगी थी रोक

0
63

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के पहले से ही पर्यटकों के आने पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया गया है। गुरुवार यानि आज से पर्यटक घाटी में खूबसूरत वादियों का मजा ले सकेंगे। आतंकी हमले के अलर्ट के बाद 2 अगस्त को सभी पर्यटकों को कश्मीर छोड़ने के निर्देश दे दिए गए थे और इसके बाद से ही घाटी में पर्यटन पर पूरी तरह से रोक लग गई थी।

धीरे-धीरे सामान्य होते हालात के साथ ही अब पर्यटकों के लिए भी घाटी ने दरवाजे खोल दिए हैं। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को इस बात की घोषणा सुरक्षा के मुद्दे पर सलाहकारों और चीफ सेक्रेटरी संग बैठक के बाद की। इसके साथ ही घाटी में सभी स्कूल और कॉलेजेस भी खोल दिए गए हैं। हालांकि, पहले दिन शिक्षण संस्थानों में कम छात्र-छात्राएं नजर आए।

दूसरी तरफ सामान्य होते हालातों के बीच अब दुकानदार भी अलगाववादियों और आतंकियों के बंद के फरमान को ठेंगा दिखाते हुए सुबह-शाम अपनी दुकानें खोल रहे हैं। हालांकि, संवेदनशील इलाकों में प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं वहीं सरकारी कार्यालयों व बैंकों में सामान्य दिनों की तरह कामकाज हुआ।

श्रीनगर के श्री प्रताप कॉलेज के बाहर सुरक्षाबल तैनात था और स्टूडेंट्स के पहचान पत्र देखकर उन्हें प्रवेश दिया गया वहीं लाल चौक स्थित श्रीनगर के सबसे बड़े गवर्नमेंट वूमेन कॉलेज में करीब 35 छात्राएं ही आईं। बाबाडेंब इलाके में स्थित गांधी मेमोरियल कॉलेज और अमर सिंह कॉलेज में 10-12 छात्र ही आए, जो अपने अध्यापकों से मुलाकात कर लौट गए।

तब अचानक लौटा दिए गए थे पर्यटक: जम्मू-कश्मीर में 2 अगस्त को अचानक स्थितियां बदली थीं और 2 अगस्त को एक बड़े आतंकी हमले के अलर्ट के बाद सरकार ने अमरनाथ यात्रा बीच में ही रोकते हुए घाटी में मौजूद सभी पर्यटकों को तुरंत लौटने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद पूरे राज्य में हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई थी। प्रशासन ने जम्मू-कश्मीर के सभी पर्यटक स्थलों को खाली करवाना शुरू कर दिया था और पर्यटकों को दोगुना किराया देकर अपने घर लौटना पड़ा था। इसके कुछ ही दिनों बाद सरकार ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की घोषणा कर दी थी।