तहसील मुख्यालयों पर औद्योगिक भूखंड खरीदने का सुनहरा मौका

60

बपावर औद्योगिक क्षेत्र में रीको करेगी ई-ऑक्शन

-राहुल पारीक-
कोटा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2021-22 के बजट सत्र के दौरान औद्योगिक विकास एवं सुदृढ़ीकरण के लिए प्रदेश में विभिन्न नए उपखण्ड एवं तहसील कार्यालय पर औद्योगिक भूखण्ड विकसित करने की घोषणा की थी। इन घोषणाओं के क्रम में रीको ने कोटा का बपावर औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया है।

रीको के वरिष्ठ उप महाप्रबंधक एमके शर्मा नेे बताया कि बपावर औद्योगिक क्षेत्र सूक्ष्म, लघु और मध्यम वर्ग के उद्यमियों के विकास का आधार बनेगा। इससे गांव के लोगों की रोजगार के लिए पलायन की समस्या समाप्त होगी।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बजट घोषणा में सांगोद उपखण्ड में रीको ने बपावर में नया औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया है। इसमें सूक्ष्म, लघु और मध्यम वर्ग के उद्यमियों के लिए आरक्षित 50 भूखण्ड़ों में से 5 भूखण्ड़ों ई-लाॅटरी के लिए ऑनलाइन आवेदन 2 जनवरी 2023 से लेने प्रारंभ किये जा चुके हैं। इसकी अंतिम तिथि 18 जनवरी होगी।

उन्होंने बताया कि सभी भूखण्डो कि ई-लाॅटरी 3 फरवरी को निकाली जायेगी। रीको के वरिष्ठ उपमहाप्रबंधक एमके शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार की सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) को बढ़ावा देने की पाॅलिसी के अनुसार इस क्षेत्र में नियोजित 123 भूखण्ड़ों में से 50 भूखण्ड इन श्रेणियों के उद्यमियों के लिए आरक्षित किये गये हैं । इस क्षेत्र की आरक्षित दर 1900 रुपये प्रति वर्गमीटर निर्धारित की गई है। प्रथम चरण में 500 वर्गमीटर के 5 भूखण्ड़ों की ई-लाॅटरी होगी जिसमें से एक भूखंड एससी/एसटी वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है।

उन्होंने बताया कि इसके लिए इच्छुक उद्यमी रीको की वेबसाइट/पोर्टल https://industries.rajasthan.gov.in/riico पर उपलब्ध ई-लाॅटरी पोर्टल के माध्यम से 18 जनवरी तक आवेदन कर सकेगें। ई-लाॅटरी में भाग लेने के लिए वांछित दस्तावेजों एवं समस्त नियमों की जानकरी पोर्टल पर उपलब्ध है।

3 फरवरी को ई-लाॅटरी के माध्यम से सफल आवंटियों का चयन होगा। वरिष्ठ उपमहाप्रबंधक रीको के अनुसार शेष 45 भूखंडों के लिए ई-लाॅटरी की प्रक्रिया बाद में होगी। उल्लेखनीय है राज्य सरकार ने रीको के इस नये क्षेत्र को एमएसएमई औद्योगिक क्षेत्र घोषित किया है।