लॉकडाउन का असर, सब्जियों के दाम कोटा में 10 गुना तक बढ़े

0
42

कोटा। लॉकडाउन के बाद थोक फल सब्जीमंडी में सब्जियों के भावों में 5 से 10 गुना तेजी आ गई। माल की आवक कम होने व मंडी में ग्राहकों की भीड़ को देखते हुए दुकानदारों ने सब्जियों के मनमाने दाम वसूले। कुछ व्यापारियों का कहना था कि जब तक सरकार सब्जियों के भावों पर लगाम नहीं लगाएगी व्यापारी मनमाने दामों वसूलते रहेंगे। थोक फल सब्जीमंडी में शुक्रवार को तड़के 3 से 4 बजे के बीच थोक में आलू 20, प्याज 20, भिण्डी 15, मिर्ची 25, गोभी 12, धनिया 30, टमाटर 10 व भिण्डी 15 रुपए किलो बिकी।

किसानों के सुबह सब्जी नहीं लेकर आने से सुबह 6 बजे सब्जियों के भावों में जमकर उछाल आया। इसके बाद आलू 30 से 40, प्याज 40, भिण्डी 30, मिर्ची 200, गोभी 50, धनिया 100, टमाटर, 40 रुपए किलो बिका। खुदरा में आलू 70, प्याज 60, भिण्डी 70, मिर्ची 250, गोभी 80, धनिया 120 व टमाटर 60 रुपए किलो तक बिका। जो लोग लॉकडाउन के चलते घर के बाहर नहीं निकल पा रहे उन्हें भी सब्जियों के लिए तरसना पड़ रहा है।

व्यापारी राजेश सुमन का कहना था कि सब्जियों का स्टॉक करने व आवक कम होने से बुधवार तक जो गोभी 5 रुपए किलो बिकी वही गुरुवार दो घंटे में ही 30 से 50 रुपए किलो बिकी और रिटेल में 60 से 100 रुपए किलो तक बिक रही है। प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो आने वाले दिनों स्थिति भयावह हो जाएगी।

और महंगी होगी सब्जियां
लॉक डाउन के चलते लोगों में संशय है कि सब्जियां कल मिलेगी या नहीं ऐसे में सब्जियां खरीदने वालों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह टमाटर के भाव 150 रुपए कैरेट (25 से 30 किलो) था जो दो घंटे में ही बढ़कर 500 से 600 रुपए कैरेट हो गया। आने वाले दिनों यही हालात रहे तो दामों में और वृद्धि होगी।
नरेश बाटवानी, थोक व्यापारी