इंडियन मोबाइल कांग्रेस शुरू, 30 देशों से ज्यादा की कंपनियां पहुंची

0
126

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में सोमवार से तकनीकी पर आधारित दुनिया का सबसे बड़ा मेला इंडियन मोबाइल कांग्रेस 2019 (आईएमसी) शुरू हो गया। यह तीन दिवसीय इंडियन मोबाइल कांग्रेस 16 अक्टूबर तक चलेगी। इस मेले के आयोजन दूरसंचार विभाग के सहयोग से संचार क्षेत्र की कंपनियों के शीर्ष संगठन सीओएआई की ओर से एयरोसिटी में किया जा रहा है। इस कांग्रेस में दुनियाभर के 30 देशों से 500 से ज्यादा कंपनियां हिस्सा लेने पहुंची हैं। तीन दिन में यहां 1 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है।

राष्ट्रगान के साथ हुई शुरुआत
एयरोसिटी में तीसरे इंडियन कांग्रेस की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई। उद्घाटन संचार, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद संचार क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों के प्रमुखों की मौजूदगी में किया। उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होना था, लेकिन चुनावी कार्यक्रम में व्यस्तता के कारण वह नहीं आ पाए।

टेलीकॉम सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश पढ़ा। उद्घाटन समारोह में कुमार मंगलम बिड़ला, ट्राई चेयरमैन आरएस शर्मा, सीओएआई के राजन मैथ्यूज, भारती एयरटेल से रवि गांधी, फेसबुक से मोनिका देसाई, क्वालकॉम से पराग कैर, आईटीयू से मैलकॉम जॉनसन समेत सभी दिग्गज मोबाइल और टेलीकॉम कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

भारतीय पवेलियन में एसएमई और स्टार्टअप पर फोकस
आइएमसी में वाणिज्य और संचार मंत्रालय की ओर से भारतीय पवेलियन लगाया गया है। इस बार भारतीय पवेलियन का फोकस एसएमई और स्टार्टअप पर रखा गया है। तीन दिन में इस पवेलियन में कई राज्यों के एसएमई और स्टार्टअप से जुड़े उत्पादों को पेश किए जाएंगे।

16 अक्टूबर तक चलेगी मोबाइल कांग्रेस
दूरसंचार विभाग के सहयोग से संचार क्षेत्र की कंपनियों के शीर्ष संगठन सीओएआई द्वारा राजधानी के एयरोसिटी में आयोजित तीन दिवसीय यह कांग्रेस 16 अक्टूबर तक चलेगी जिसका संचार, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद संचार क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों के प्रमुखों की मौजूदगी में उद्घाटन करेंगे।

इंडियन मोबाइल कांग्रेस में टेलीकॉम ऑपरेटर और देशी-विदेशी स्टार्टअप के साथ ही प्रौद्योगिकी से जुड़े उत्पाद और सेवायें देने वाली कंपनियां शामिल होंगी। इस बार 5जी पर विशेष जोर दिया गया क्योंकि यही टेक्नोलॉजी अगली पीढ़ी में लोगों को जोड़ने का काम करेंगी। इसका कनेक्टेड वाहनों और अन्य क्षेत्रों में भी उपयोग होने वाला है।

इस बार 5जी उत्पादों में बढ़ोतरी की उम्मीद
पिछले वर्ष भी इंडियन मोबाइल कांग्रेस में 5जी उत्पाद प्रदर्शित किए गए थे और इस बार इसमें अधिक बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की शुरुआत होते की 5जी स्पेक्ट्रम की इस वर्ष नीलामी की घोषणा की गई थी लेकिन इसको लेकर टेलीकॉम कंपनियों में कोई विशेष उत्साह नहीं देखा जा रहा है।

दिग्गज दूरसंचार कंपनियां इसकी नीलामी नहीं किए जाने की भी वकालत कर चुकी है। 5जी प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनियां अपनी प्रौद्योगिकी को प्रदर्शित करने को लेकर काफी उत्साहित है। इस क्षेत्र में चीन की प्रमुख कंपनी हुवावेई को लेकर पहले आशंका जताई जा रही थी लेकिन अब उसे इसके लिए दूरसंचार विभाग से मंजूरी मिल गई है। इसमें वैश्विक स्तर के स्टार्टअप भी अपने नवाचारी उत्पाद पेश करने वाले हैं।