एलन कॉमर्स का नमन कोटा टॉपर, सीए फाउंडेशन के परिणामों में 96 छात्र सफल

41

कोटा। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट प्राइवेट लिमिटेड ने इंजीनियरिंग व मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम्स के साथ अब कॉमर्स की पढ़ाई में श्रेष्ठता साबित की है। शुरुआत के दूसरे वर्ष में ही सीए फाउंडेशन के परिणामों में एलन-एस कॉमर्स के स्टूडेंट्स ने बेहतर परिणाम दिए हैं।

एलन-एस के मेंटोर विनोद शर्मा ने बताया कि दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की ओर से जारी किए गए सीए फाउंडेशन के परिणामों में 96 स्टूडेंट्स ने सफलता प्राप्त की है। इसमें नमन जाजू ने सर्वाधिक 400 में से 338 अंक प्राप्त किए हैं। नमन ने कोटा टॉप किया है। इसके साथ ही कन्या राठौर ने 329 और वेदांश भागवानी ने 318 अंक प्राप्त किए हैं। कन्या राठौर ने बिजनेस मैथ्स एण्ड लॉजिकल रीजनिंग – स्टेटिक्स में पूरे में से पूरे 100 अंक प्राप्त किए हैं।

एलन-एस कॉमर्स के कोटा एवं मुंबई मेंटोर सौरभ मूंदड़ा ने बताया कि स्थापना के दो वर्षों में ही एलन स्टूडेंट्स के बेहतर परिणामों की श्रृंखला शुरू हो गई है। परिणाम जारी होने के साथ ही रिजल्ट सेलिब्रेशन किया गया। फैकल्टीज ने स्टूडेंट्स का मुंह मीठा करवाया। स्टूडेंट्स और पेरेंट्स में एलन की शिक्षा पद्धति को लेकर उत्साह है।

एलन एस कॉमर्स कोटा के अकेडमिक हेड विवेक बंसल ने बताया कि पिछले दिनों सीए फाइनल नवम्बर 2023 के परिणामों में ऑनलाइन कोर्स की शारदा नारायण, आयुषी माहेश्वरी और दिवाकर शर्मा ने 400 में से 200 से अधिक प्राप्त कर ग्रुप-2 की परीक्षा में सफलता प्राप्त की।

इसी तरह सीए इंटरमीडिएट की परीक्षा में एलन के क्लासरूम स्टूडेंट मयूर पटौदी, राहुल जेठवानी, नमन कासलीवाल, राजीव अग्रवाल ने दोनों ग्रुपों में सफलता प्राप्त की। इंटरमीडिएट के परिणामों में टॉप-5 में दो स्टूडेंट्स एलन से रहे। इसमें मयूर पटौदी 566 अंकों के साथ और राहुल जेठवानी 464 अंकों के साथ शामिल है। इसी तरह ग्रुप-1 में एलन क्लासरूम स्टूडेंट्स विभोर जैन, यशु कुमावत, सन्मय जैन, नोएल जॉन तथा ग्रुप-2 में आर्यन बंसल, श्रुति बंसल व तन्मय जैन ने सफलता प्राप्त की थी।

सीए बनने पर फोकस
नमन जाजू ने बताया कि अभी फाउंडेशन में सफलता मिली है। मेरा लक्ष्य सीए बनना है। मैं पिछले एक साल से एलन कॉमर्स का स्टूडेंट हूं। एलन में कॉमर्स फैकल्टीज काफी एक्सपीरियंस्ड है। कंसेप्ट काफी अच्छे से क्लीयर कराते हैं। मैं प्रश्नों की ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करता हूं। क्योंकि जितनी ज्यादा आप प्रेक्टिस करोगे, उतनी ही ज्यादा नींव मजबूत होगी। मैं क्लासरूम के अलावा 5 से 6 घंटे सेल्फ स्टडी करता हूं। इससे पहले 10वीं कक्षा 93 प्रतिशत एवं 12वीं कक्षा में 97 प्रतिशत अंक हासिल कर चुका हूं। पिता दिनेश जाजू बिजनेसमैन एवं मां कंचन जाजू हाउस वाइफ है। मेरा बड़ा भाई भी सीए फाइनल में है।