कोटा की गौरी पढ़ेगी अमेरिका की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में, 2 करोड़ की स्कॉलरशिप

0
25

कोटा। शहर की होनहार बेटी पीवी गौरी ने 16 साल की उम्र में ही अमेरिका की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरा करने का टिकट पक्का कर लिया। अमेरिकन यूनिवर्सिटीज में दाखिले के लिए होने वाले एसीटी, टॉफेल और फाइनल एग्जाम के स्कोर के आधार पर गौरी को 2 करोड़ की स्कॉलरशिप मिली है।

ये स्कॉलरशिप रतन टाटा की ओर से स्पांसर की जाती है। इसके साथ ही हर साल अमेरिका से एक बार आने व जाने का प्रबंध भी किया गया है। गौरी के पिता सन्नी कुमार इंजीनियर और मां पी. ज्योति एक निजी स्कूल में शिक्षक हैं। मां ज्योति बताती है कि बेटी को अमेरिका में पढ़ाना हमारे बस में नहीं था।

गौरी को प्रतिभा को देखते हुए ही कॉर्नेल यूनिवर्सिटी ने इतनी बड़ी स्कॉलरशिप दी है। दरअसल, गौरी ने आईआईटी के लिए तैयारियां शुरू की थी, लेकिन बाद में उन्होंने एसीटी की तैयारियां भी शुरू कर दी। स्कॉलरशिप में दिए गए नियम के अनुसार अब गौरी को आईआईटी ड्राॅप करनी होगी। आईआईटी से बड़ा प्लेटफार्म गौरी को मिला है।

10वीं क्लास में ही क्लियर कर लिया था अमेरिकी यूनिवर्सिटी का एंट्रेंस, अगस्त में ग्रेजुएशन करने अमेरिका जाएगी।
लेकिन यूनिवर्सिटी में एडमिशन 12वीं क्लास के बाद ही मिलता है। इस कारण दो साल तक उनको इंतजार करना पड़ा। इस दौरान कोटा में रहकर 12वीं तक की पढ़ाई की।

पढ़ाई में डिस्टर्ब नहीं हो इसलिए घर में टीवी तक नहीं
मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखने वाले गौरी के पेरेंट्स ने बेटी की पढ़ाई और कॅरियर से समझौता नहीं किया। वह डिस्टर्ब नहीं हो, इस कारण घर में टीवी तक नहीं लगाया।

यहां तक की गौरी के पास स्मार्ट फोन की बजाय पुराना कीपैड फोन है, वह भी जरूरत पड़ने पर ही इस्तेमाल करते हैं। गौरी को पढ़ने का जुनून है। मां ज्योति बताती है कि जब तक उसकी आंख नहीं लग जाती है, तब तक वह पढ़ाई ही करती रहती है।

सेल्फ स्टडी करके हासिल की सफलता
कोटा में रहते हुए भी गौरी ने कभी ट्यूशन व कोचिंग नहीं ली। सिर्फ सेल्फ स्टडी की। साउथ इंडिया से ताल्लुक रखने के कारण इंग्लिश पहले ही अच्छी थी। फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स में प्राॅब्लम होती तो अपनी मम्मी से ही गाइडेंस लेती थी।
800 में से 800 अंक हासिल किए मैथ्स व केमेस्ट्री में

अमेरिकन यूनिवर्सिटी के प्री एंट्रेंस एग्जाम एसीटी में गौरी ने विभिन्न स्केल पर 36 में से 34 स्कोर हासिल किया। टॉफेल में भी 120 में से 114 अंक हासिल किए। एसीटी में उन्होंने मैथ्स व केमेस्ट्री में 800 में से 800 और फिजिक्स में 800 में से 790 अंक हासिल किए हैं। गौरी सीबीएसई की ओर से आयोजित कथा सीरिज में भी टॉप पोजिशन हासिल की थी।