स्मृतिवन में मनाई पौधरोपण की तीसरी वर्षगांठ, टैंकरों से पिलाया पानी

0
8

कोटा। महाशिवरात्रि के अवसर पर अनंतपुरा कर्णेश्वर महादेव स्थित वन विभाग के स्मृतिवन में स्वयंसेवी संगठनों एवं पर्यावरण प्रेमियों ने पौधरोपण की तीसरी वर्षगांठ पर टैकरों से पानी पिलाया और मृत पौधों के स्थान पर नए पौधे लगाए।

वन कर्मचारियों और स्वयसेंवी संस्थाओं ने खुद की जेब से पैसा एकत्र कर पौधों को बचाने का संकल्प लिया। इस अवसर पर उप वन संरक्षक ललित सिंह राणावत ने कहा कि तीन वर्ष तक काफी पौधे जिंदा रहे हैं, तो वन विभाग एवं जनता की लगन के कारण ही ।

उन्होंने लाडपुरा के रैंजर दाताराम वर्मा को एक सप्ताह में क्षतिग्रस्त दीवारों की मरम्मत करने के निर्देश दिए । उसके लिए आपात व्यवस्था कर फण्ड दिलाया जाएगा।

राणावत ने बताया कि कैम्पा फण्ड को दिल्ली में वन महानरिक्षक के कार्यालय से मंजूर कराने के प्रयास किए जा रहे है। इसके लिए सांसद को भी कहा गया है। स्मृतिवन सलाहकार समिति के सचिव बृजेश विजयवर्गीय ने कहा कि स्मृतिवन में वन विभाग की प्रभावी चौकसी की आवश्यकता है।

उसके लिए धन की कमी को वन विभाग पूरा करें। प्रत्येक वृक्ष शिव जी की भांति खुद कार्बनडाईऑक्साईड का सेवन कर प्राणियों के लिए ऑक्सीजन प्रदान प्रदान करते हैं।  स्मृतिवन नए कोटा के लिए फेफड़ों का काम करेगा।

खुद की जेब से 20 हजार रुपये एकत्र 
सरकारी मदद के अभाव में पौधों को जिंदा रखने के लिए वन विभाग के कर्मचारियों एवं समिति के सदस्यों ने खुद की जेब से 20 हजार रुपये एकत्र कर आागामी समय में पौधों को पानी पिलाने और सुरक्षा खर्च की व्यवस्था करने का संकल्प दोहराया। 

वन रक्षक राजपाल सिंह, महेंद्र सिंह, बाबू सिंह, सुजाता,  केटलगार्ड आबिद के अलावा अर्जुन क्लसेसेज के निर्देशक मुकेश सुमन, सोसायटी फॉर ईकॉलॉजी रिसोर्स शेर के भवानी शंकर मीणा, आनंद जाटव आदि ने भी श्रमदान कर पौधों को बचाया तथा नए पौधों को रोपा।