RBI से निराश बाजार, सेंसेक्स 113 अंक गिरकर 34082 पर बंद

0
16

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने लगातार तीसरी मॉनिटरी पॉलिसी में रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। आरबीआई की पॉलिसी के बाद बाजार में गिरावट बढ़ी। बैंक, आईटी और फाइनेंस सर्विस सेक्टर के शेयरों में बिकवाली से दोनों प्रमुख इंडेक्स लगातार चौथे दिन गिरावट के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 113 अंक गिरकर 34,082 अंक पर और निफ्टी 22 अंक टूटकर 10,477 अंक पर बंद हुआ।

इससे पहले, ग्लोबल मार्केट में रिकवरी के बाद बुधवार को भारतीय शेयर बाजार बढ़त के साथ खुले। आज सेंसेक्स 367 अंक की बढ़त के साथ 34,563 अंक पर खुला। वहीं, निफ्टी 109 अंक चढ़कर 10,607 अंकों पर रहा। आम बजट के बाद पिछले तीन दिनों (2, 5, और 6 फरवरी) में शेयर बाजार में भारी गिरावट देखी गई। मंगलवार को इंट्रा-डे में सेंसेक्स 1274 अंक तक टूट गया था। इससे निवेशकों के तीन दिन में 8 लाख करोड़ रुपए डूब गए थे।

मिडकैप-स्मॉलकैप इंडेक्स में रही बढ़त
लार्जकैप शेयरों के मुकाबले मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में अच्छी खरीददारी देखने को मिली। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.43% की बढ़त के साथ 16351 अंक पर बंद हुआ। मिडकैप शेयरों में एलटीआई, बीईएल, टाटा ग्लोबल, अशोक लेलैंड, कैस्ट्रॉल इंडस्ट्रीज, वाकहार्ट फार्मा, पीईएल, श्रीराम सिटी यूनिन, अमारा राजा बैट्रीज, एंडुरेस 3.29-9.24 फीसदी तक बढ़े।

वहीं बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स में 1.95 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। स्मॉलकैप शेयरों में एचईजी, 8के माइल्स, सेंचुरी प्लाई, इंडिया ग्लाइको, लिबर्टी शू, चंबल फर्टिलाइजर, लुमैक्स इंडस्ट्रीज, जेन टेक 11.12-20 फीसदी तक चढ़े।

बैंक-आईटी शेयर टूटे, रियल्टी इंडेक्स में सबसे ज्यादा तेजी
सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो ऑटो, एफएमसीजी, मेटल, फार्मा, मीडिया और रियल्टी इंडेक्स में बढ़त देखने को मिली। सबसे ज्यादा बढ़त निफ्टी रियल्टी इंडेक्स में 1.69 फीसदी की रही। वहीं निफ्टी ऑटो में 0.30 फीसदी, एफएमसीजी में 0.23 फीसदी, मेटल में 0.46 फीसदी और निफ्टी फार्मा में 0.73 फीसदी का उछाल आया।

हालांकि आरबीई द्वारा रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किए जाने से बैंकिंग शेयरों में बिकवाली बढ़ गई। जिससे बैंक निफ्टी 0.55 फीसदी टूटकर 25,670 अंक पर बंद हुआ। इसके अलावा निफ्टी आईटी इंडेक्स 0.89 फीसदी टूटा।

इंडिया वोलैटिलिटी इंडेक्स 3% गिरा
स्टॉक मार्केट के इंडिया वोलैटिलिटी इंडेक्स (विक्स) में गिरावट देखने को मिली है। बुधवार के कारोबार में इंडेक्स 2.73 फीसदी गिरकर 19.46 के लेवल पर पहुंच गया।

इंडिया वोलैटिलिटी इंडेक्स यानी विक्स नियर टर्म में उतार-चढ़ाव को लेकर मार्केट के अनुमान को बताता है। हाई विक्स से संकेत मिलता है कि मार्केट नियर टर्म में उतार-चढ़ाव देख सकता है। वहीं, लोअर विक्स से उतार-चढ़ाव कम होने के संकेत मिलते हैं।

49 स्टॉक्स ने बनाया साल का नया हाई
बाजार में उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बीच बीएसई पर 49 स्टॉक्स 52 हफ्ते की नई ऊंचाई पर पहुंचे। इनमें भारत फाइनेंशियल इंक्लूजन, एस्टर, एक्सकॉर्ट्स, जुबिलएंट लाइफ साइंस शामिल हैं।