कहार, केवट और कीर समाज का झालावाड़ में महापड़ाव 26 को

0
12

कोटा। राजस्थान प्रदेश कहार, केवट, कीर, महरा, कश्यप, निषाद, भोई समाज आरक्षण संघर्ष समिति राज्य सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निर्वाचन क्षैत्र झालरापाटन में 26 फरवरी को महापड़ाव डाल कर आरक्षण की मांग को पुरजोर तरीके उठाएगी।

समिति के प्रदेश संयोजक उमा शंकर कहार ने पत्रकार वार्ता में बताया कि समाज की मांगों के समाधान के लिए पिछले चुनावों में वसुंधरा राजे ने केवट बोर्ड के गठन का वादा किया था,जो पूरा नहीं किया। समाज के प्रदेश में25 लाख लोग है। समाज ने हाल ही में उप चुनावों में भाजपा प्रत्याशियों को हराने का काम किया था जिसमें हमें सफलता मिली है।

उप चुनाव में हमने दिखाया ट्रेलर
कहार ने कहा कि मुख्यमंत्री की वादाखिलाफी के खिलाफ उप चुनाव तो मात्र ट्रेलर है। यदि शीघ्र ही मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो आगामी विधान सभा चुनावों में वसुंधरा को पूरी फिल्म दिखा दी जाएगी।इसी बीच आरएसएस एवं विश्व हिंदू परिषद के नेताओं से मिल कर उन्हें बताया जाएगा कि वसुंधरा किस प्रकार समाज की उपेक्षा कर रही है।

कहार ने कहा इन संगठनों को भी समझ में आना चाहिए कि वसुंधरा राजे की सरकार पिछड़ें समाजों के साथ अन्याय कर रही है। उमाशंकर ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के समक्ष भी मांगों को उठाया जाएगा। 10 दिन में केवट बोर्ड के गठन की अधिकारिक घोषणा नहीं हुई तो भाजपा के खिलाफ उम्मीदवारों को उतारा जाएगा।

कांग्रेस को भी अब सशर्त समर्थन
उन्होंने बताया कि कांग्रेस को भी अब सशर्त समर्थन दिया जाएगा कि उनकी पार्टी हमारे समाज को एसटी का दर्जा देगी या नहीं। समाज ने गत 3 नवम्बर को अजमेर में रैली में ताकत बता दी थी। आगामी 25 दिसम्बर को झालावाड़ में रैली की गई लेकिन वसुंधरा राजे टस से मस नहीं हो रही। जबकि हमारा समाज पिछड़ा वर्ग है और नदियों व तालाबों पर जिंदा है।

उन्होंने बताया कि दूसरे समाज रेल की पटरियां उखाड़ कर जाम लगा देते हैं तो उनकी बात कर देवनारायण बोर्ड का गठन कर दिया गया तथा आरक्षण की मांग मान ली गई। वसुंधरा राजे की सरकार हमें भी हिंसा का रास्ता अपनाने की तरफ अग्रसर कर रही है। कहार ने चेतावनी दी कि समाज के धैर्य की परीक्षा न ली जाए। धैर्य का बांध अब टूटने वाला है।

13 फरवरी को कोटा में समाज की महापंचायत
विधान सभा चुनावों में वसुंधरा के खिलाफ महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष सरिता केवट को उम्मीदवार बनाया जाएगा। समाज की महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष सरिता केवट ने बताया कि ने कहा कि झालावाड़ में महापड़ाव के संदर्भ में 13 फरवरी को कोटा में समाज की महापंचायत होगी।इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। इस दौरान जो वर्ग हमारे से सहानुभूति रखता है, उनसे भी समर्थन लिया जाएगा। समिति के पदाधिकरी पप्पू केवट एवं राजकुमार केवट, आदि ने भी विचार व्यक्त किए।