आरटीयू ने लापरवाह शिक्षकों के कॉपी जांचने पर लगाई रोक

0
14

कोटा। स्टूडेंट्स की कॉपियों को जांचने में सरकारी से ज्यादा लापरवाही निजी कॉलेजों के शिक्षक बरत रहे हैं। आरटीयू ने कॉपी जांचने के काम में लापरवाही बरतने पर 4 शिक्षकों को 6 माह के लिए कॉपी जांचने के काम से निलंबित कर दिया है। 18 अन्य शिक्षकों को चेतावनी दी गई है।

बीटेक सेकंड, थर्ड, फोर्थ और सिक्सथ सेमेस्टर के मेन व बैक एग्जाम में लापरवाही बरतने पर यह कार्रवाई की गई। कॉपी व्यू के बाद स्टूडेंट्स का फीडबैक के आधार पर कॉपी व्यू कमेटी ने यूनिवर्सिटी की वीसी की अप्रूवल के बाद यह कार्रवाई की है। करीब 13 शिक्षक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के हैं।

शेष सरकारी व पॉलीटेक्निक इंस्टीट्यूट से संबंध रखते हैं। नीमराना के निजी कॉलेज के डॉ. संदीप मलिक, गवर्नमेंट बीकानेर इंजीनियरिंग कॉलेज के मनिंदर सिंह, डीआईसीएस भरतपुर के रविंद्र कुमार व सांगानेर जयपुर के योदवेंद्र बेदी को 6 माह के लिए कॉपी जांचने के काम से निलंबित कर दिया गया है।

इनको दी चेतावनी
राकेश अग्रवाल, सोहनलाल गुप्ता, राजेश रंजन, गोपाल कृष्ण, राजेश कुमार ओझा, डॉ. आलोक भार्गव, विजय प्रताप सिंह, देवेंद्र सिंह, निमित जैन, मोहित वाजपेयी, मनीष कुमार, हयात खान, विनोद रामपाल, सुमित राज भाटी, रेणुलाल चौहान, कपिल कुमार, अन्नापूर्णा छबाई और पवन कुमार सैनी को चेतावनी दी गई है।