सितंबर माह में कार्ड से लेनदेन में आया 84 फीसद का उछाल

0
14

नई दिल्ली । देश में इस साल सितंबर के दौरान डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स के जरिये लेनदेन या भुगतान 84 फीसद उछलकर 74,090 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। सितंबर, 2016 में यह आंकड़ा 40,130 करोड़ रुपये था। यूरोपीय भुगतान समाधान प्रदाता वर्ल्डलाइन के अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है।

इस अध्ययन में कहा गया है कि सरकार की ओर से गैर नकदी लेनदेन को प्रोत्साहित करने की वजह से कार्ड्स के माध्यम से भुगतान में खासी वृद्धि हो रही है।

वर्ल्डलाइन ने रिजर्व बैंक के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा है कि सभी पीओएस (पॉइंट ऑफ सेल्स) पर सितंबर में लेनदेन 86 फीसद बढ़कर 37.8 करोड़ पर पहुंच गया। यह पिछले साल इसी महीने 20.3 करोड़ था।

यूनाइटेड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआइ) के माध्यम से भुगतान में भी 85 फीसद की जोरदार बढ़ोतरी हुई है। वर्ल्डलाइन के सीईओ (दक्षिण एशिया एवं मध्यपूर्व) दीपक चंदनानी ने कहा कि नोटबंदी के बाद लोगों को अपने दैनिक खर्चों का भुगतान डिजिटल तरीके से करना पड़ रहा है।

हालांकि अब में नकदी पर्याप्त मात्रा में आ गई है। इसके बावजूद डिजिटल भुगतान में खासी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।अध्ययन के मुताबिक अगस्त, 2014 में लांच प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) के तहत करोड़ों भारतीयों के खाते खोले गए हैं।

इसके तहत कार्ड के इस्तेमाल को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। इस साल सितंबर तक देश में कुल कार्ड्स की संख्या 85.3 करोड़ थी। इसमें 3.33 करोड़ क्रेडिट कार्ड तथा 81.98 करोड़ डेबिट कार्ड हैं।