कोटा के रेलवे अस्पताल में लगेगा 50 लाख का ऑक्सीजन प्लांट

0
105

कोटा । कोटा सहित इंडियन रेलवे के 52 रेलवे अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे। कोटा रेल मंडल के सबसे बड़े अस्पताल में भी ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। इस कार्य पर 50 लाख रुपए खर्च होंगे। इसके लिए निविदा प्रक्रिया चल रही है।

पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा भोपाल व जबलपुर में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे। कोटा के 104 बेड के रेलवे अस्पताल में पिछले दिनों 73 बेड पर कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा था। अस्पताल में कई मरीज ऐसे भी थे, जिनको ऑक्सीजन की जरूरत थी। कोटा के सभी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी कुछ समय के लिए महसूस की गई।

इस समस्या को हल करने के लिए रेलवे ने अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का फैसला किया। ऑक्सीजन प्लांट से रोजाना 110 ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार होंगे। डीआरएम पंकज शर्मा ने बताया कि कोटा के रेलवे अस्पताल के लिए ऑक्सीजन प्लांट के लिए टेंडर प्रक्रिया चल रही है।

अस्पताल में प्रत्येक वार्ड में ऑक्सीजन सप्लाई पाइप लाइन भी डाली जाएगी। सेंट्रल ऑक्सीजन सिस्टम लगाया जाएगा। ताकि वार्डों में सिलेंडर रखने यह समस्या नहीं रहेगी। रेलवे अस्पताल के लिए जम्बो ऑक्सीजन सिलेंडर भी लिए जा रहे हैं।

कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियां भी शुरू
कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए भी अस्पताल में तैयारियां की जा रही है। अभी तक मेडिकल कॉलेज के नए अस्पताल से रेफर मरीजों रेलवे कर्मचारियों रिटायर्ड कर्मचारियों व उनके आश्रितों का इलाज रेलवे के मंडल अस्पताल में चल रहा था। कोरोना की तीसरी लहर के बारे में डीआरएम ने बताया कि अस्पताल में और सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। अस्पताल में पहले 2 आईसीयू बेड थे, अब बढ़ाकर 8 बेड कर दिए गए हैं। 6 नए आईसीयू बेड लगाए गए हैं।