कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें, मुख्यमंत्री गहलोत की राजस्थान की जनता से अपील

0
46

जयपुर। राजस्थान में भले ही कोरोना के केसों में कमी आ गई हो, लेकिन अब भी सावधानी बरतने की जरूरत है। पिछले कुछ दिनों से केरल, महाराष्ट्र और अब मध्य प्रदेश में नए स्ट्रेन के केस मिलने और संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा होना शुरू हो गया है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश की जनता को अलर्ट किया है। गहलोत ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा है कि अगर सावधानी और कोविड नियमों की पालना नहीं की तो पिछले साल जैसी स्थिति दोबारा न बन जाए।

मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया पर तीन पोस्ट की। इसमें उन्होंने लिखा- महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में कोरोना के यूके स्ट्रेन के अलावा दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से आए नए स्ट्रेन भी मिले हैं। पिछले साल इसी समय पर देश में कोरोना के मामले बढ़ना शुरू हुए थे। केरल के बाद राजस्थान आए विदेशी पर्यटक संक्रमित हुए थे और देखते-देखते लाखों-करोड़ों लोग संक्रमित हो गए। अब तक देश भर में 1 लाख 56 हजार से अधिक लोगों की जान कोरोना से चली गई।

सीएम ने कहा कि यह वक्त बेहद सावधानी रखने का है। आप सभी के सहयोग से अभी तक राजस्थान में कोरोना महामारी काबू में है, लेकिन पूरी तरह सावधानी बरतने की आवश्यकता है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें एवं कोई भी लक्षण दिखने पर खुद को आइसोलेट कर अपना कोविड टेस्ट करवाएं। थोड़ी सी लापरवाही सभी के लिए परेशानी का कारण बन सकती है।

महाराष्ट्र में बीते कुछ दिनों से कोरोना के नए केसों की संख्या 4 से 7 हजार की संख्या के बीच आ रही है। इसी तरह केरल में 2 हजार से 6 हजार, जबकि मध्य प्रदेश में 200 से लेकर 300 के बीच आ रही है।

22 दिन में आए 2039 मामले
अगर राजस्थान की बात करें तो कोरोना के केस फरवरी में काफी कंट्रोल है। इस माह अब तक 22 दिन में पूरे राज्य में 2039 नए केस मिले हैं। वहीं, इस बीमारी से अब तक 19 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा मौजूदा समय में सवाई माधोपुर, हनुमानगढ़ और चूरू जिले ऐसे हैं, जहां एक भी एक्टिव केस नहीं है। मौजूदा समय में पूरे राज्य में 1206 एक्टिव केस हैं।