अमेजन प्राइम की इंडिया हेड ‘तांडव’ के आपत्तिजनक कंटेंट पर नहीं दे पाईं जवाब

0
301

लखनऊ। वेब सीरीज तांडव के विवाद से जुड़े मामले में अमेजन प्राइम की इंडिया हेड अपर्णा पुरोहित से मंगलवार को पुलिस ने पूछताछ की। वह अपना बयान दर्ज कराने हजरतगंज कोतवाली पहुंची थीं। तकरीबन 2 बजे अपर्णा पुरोहित कोतवाली पहुंची और 5 बजकर 40 मिनट पर बाहर निकलीं। वेब सीरिज में आपत्तिजनक कंटेंट पास करने को लेकर पूछे गए सवालों का अपर्णा ने जवाब दिया।

सूत्रों के मुताबिक, SIT की टीम का नेतृत्व कर रहे हजरतगंज कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार सिंह के 50 सवालों में से अपर्णा पुरोहित ने 8 का ही जवाब दिया। उन्हें 8 मार्च को दोबारा बुलाया गया है।

वेब सीरीज दिखाकर आपत्ति वाले सीन्स पर सवाल-जवाब

  • सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने अपर्णा से पहला सवाल पूछा कि वेब सीरीज पास करने से पहले उसका कंटेंट चेक क्यों नहीं किया गया? इस पर अपर्णा पुरोहित ने कहा कि सभी कंटेंट हमारी स्पेशल टीम पास करती है। इसके बाद हम उसे आखिर में मंजूरी देते हैं।
  • इसके बाद पुलिस ने पूछा कि मंजूरी देने से पहले वेब सीरीज में किसी भी धर्म, समुदाय, जाति विशेष को लेकर कोई आपत्तिजनक सीन देखे बिना कैसे पास कर दिया गया? अपर्णा यह कहते हुए इस सवाल को टाल दिया कि इस बारे में मैं कुछ बता नहीं पाऊंगी।
  • लगातार 4 सवालों के बाद अपर्णा पुरोहित अगल-बगल देखने लगीं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम है। इसका जवाब तो मैं भी नहीं दे सकती। सूत्रों ने बताया कि अपर्णा पुरोहित सिर्फ 8 सवालों के ही जवाब दे पाईं।
  • पूछताछ के दौरान उन्हें वेब सीरीज दिखाई गई। इसमें प्रधानमंत्री और यूनिवर्सिटी में गुम हुए लड़के और भगवान शिव वाले सीन पर सवाल पूछे गए? इस पर उन्होंने चुप्पी साधे रखी। इस दौरान वे बैग से रूमाल निकालकर माथे से पसीना पोछती रहीं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम, मैं कुछ नहीं बता पा रही हूं।

17 जनवरी को दर्ज मुकदमे में अपर्णा पुरोहित का पहला नाम हैं। अपर्णा ने अमेजन इंडिया के लीगल एडवाइजर के जरिए बॉम्बे हाई कोर्ट, हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच और सुप्रीम कोर्ट तक केस खारिज कराने की अर्जी लगाई थी, लेकिन सभी जगह अर्जी खारिज हो गई। अमेजन इंडिया ने सोमवार को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में केस खारिज किए जाने की अर्जी लगाई थी।

इसमें सिंगल बेंच में सुनवाई करते हुए जस्टिस दिनेश कुमार सिंह ने मंगलवार दोपहर तक उन्हें अपने बयान दर्ज कराने के आदेश दिए थे। इससे पहले पुलिस टीम ने मुंबई जाकर वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास, प्रोड्यूसर हिमांशु, राइटर गौरव सोलंकी बयान दर्ज करा चुके हैं।

18 जनवरी को लखनऊ के हजरतगंज थाने में एक पुलिस इंस्पेक्टर ने इस मामले में FIR दर्ज करवाई थी। इसमें समाज में विद्वेष फैलाने, अशांति फैलाने जैसी धाराओं के तहत तांडव वेब सीरीज के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। FIR में अमेजन प्राइम की इंडिया हेड अपर्णा पुरोहित, तांडव वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्ण मेहर और राइटर गौरव सोलंकी को आरोपी बनाया गया है।