ग्वार गम के भाव अब और घटने की गुंजाइश नहीं, जानिए क्यों

0
68

मुकेश भाटिया
कोटा।
औद्योगिक व निर्यात मांग घटने के चलते हाल ही जोधपुर मंडी में ग्वार गम की कीमतें 200 रुपये प्रति क्विंटल घट गयी। भविष्य में और ज्यादा मंदे की संभावना नहीं है। विशेषज्ञों के अनुसार, औद्योगिक मांग के साथ-साथ निर्यातकों की पूछ परख कमजोर रहने से एक पखवाड़े के दौरान जोधपुर मंडी में ग्वार गम की कीमतें 200 रुपये घटकर 6200/6250 रुपये प्रति क्विंटल रह गयी, जबकि इस अवधि के दौरान मांग कमजोर रहने से ग्वार की कीमतें 50 रुपये घटकर 3900/3950 रुपये प्रति क्विंटल रह गयी, जबकि अहमदाबाद मंडी में लिवाली कमजोर रहने से ग्वार गम की कीमतें 6350/6400 रुपये से घटकर 6150/6200 रुपये प्रति क्विंटल रह गयी।

ग्वार गम का निर्यात मुख्यतः यूएसए, जर्मनी, कनाडा, ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, स्पेन, इंडोनेशिया एवं मिश्र इत्यादि देशों को होता है। ऐपिडा के अनुसार, अप्रैल-दिसंबर 2020-21 के दौरान ग्वार गम का निर्यात 169545 मीट्रिक टन के लगभग हुआ था, जबकि इस वर्ष समान अवधि में इसका निर्यात 309543 मीट्रिक टन के लगभग हुआ।

निर्यात कमजोर रहने तथा सटोरिया बिकवाली बढ़ने के चलते NCDEX में ग्वार गम मार्च डिलेवरी की कीमतें 150 रुपये घटकर 6208 रुपये रह गयी। हालांकि वैश्विक बाजार में इस अवधि के दौरान कीमतें 5 डॉलर बढ़कर 59 डॉलर प्रति बैरल हो गयी। इन सभी परिस्थितियों को देखते हुए भविष्य में ग्वार गम की कीमतें और ज्यादा घटने की गुंजाइश नही है, घरेलू मांग के साथ-साथ निर्यातकों की पूछ-परख निकलते ही क़ीमतें पुनः सुधरने की उम्मीद है।