रहने के हिसाब से मुंबई देश में सबसे महंगा, यहां बिजली-ट्रैवलिंग पर खर्च ज्यादा

0
16

नई दिल्ली। ह्यूमन रिसोर्स कंसल्टेंसी मर्सर ने एक सर्वे किया है। इसके मुताबिक दूसरे शहरों से आए लोगों के लिए मुंबई देश के अन्य शहरों के मुकाबले काफी महंगा है। कंसल्टेंसी ने कॉस्ट ऑफ लिविंग 2024 की सर्वे रिपोर्ट में यह कहा है। मुंबई में पर्सनल केयर, बिजली, यूटिलिटी, ट्रांसपोर्टेशन और किराए का घर लेना महंगा है।

कंसल्टेंसी ने आगे कहा कि देश में सबसे महंगों शहरों में मुंबई, नई दिल्ली और बेंगलुरु शामिल हैं। इस साल मुंबई ने 11 पायदान की छलांग लगाई, लेकिन दुनिया में ये शहर टॉप 100 में नहीं हैं।

ग्लोबल लेवल पर कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में टॉप 5 शहरों की रैंकिंग में कोई चेंज नहीं है। हॉन्ग कॉन्ग पहले नंबर पर है। उसके बाद सिंगापुर, ज्यूरिख, जिनेवा, बेसल, बर्न, न्यूयॉर्क सिटी, लंदन, नासाउ और लॉस एंजिल्स आते हैं।

मुंबई में मकान के किराए में 6-8% की बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में मकान किराया 12-15% के बीच बढ़ा है। बेंगलुरु, पुणे और चेन्नई में भी मकान किराए में यही ट्रेंड रहा है। मुंबई-पुणे बिजली के मामले में सबसे महंगे शहर हैं। मुंबई-बेंगलुरु में ट्रैवल कॉस्ट भी सबसे अधिक है।

मर्सर के इंडिया मोबिलिटी लीडर राहुल शर्मा ने कहा कि वैश्विक आर्थिक चुनौतियों के बावजूद भारत ने हमारे 2024 के कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में लचीलापन दिखाया है। मुंबई की रैंकिंग में बढ़ोतरी हुई है, लेकिन भारतीय शहरों की ओवरऑल अर्फोडिबिलिटी इंटरनेशनल कंपनियों और इंडियन कंपनियों को अपनी ओर अट्रैक्ट कर रही हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि घरेलू डिमांड और मजबूत सर्विस सेक्टर से हमारी स्ट्रांग इकॉनमी ग्लोबल टैलेंट के लिए स्टेबल वातावरण प्रदान करती है। जैसे-जैसे ग्लोबल हाउसिंग कॉस्ट और महंगाई बढ़ती है वैसे-वैसे भारत की ग्रोथ स्टोरी और लिविंग स्टैंडर्ड में सुधार इसे इंटरनेशनल असाइनमेंट के लिए एक अट्रैक्टिव ठिकाना बनाते हैं।

कहां क्या ज्यादा महंगा

  1. दिल्ली में किराए के घरों में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई है। जो 12-15% तक की है। मुंबई में ये 6-8%, बेंगलुरु में 3-6% और पुणे-हैदराबाद-चेन्नई में 2-4% है।
  2. मुंबई में ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट, जिसमें ऑटोमोबाइल और ऑटो पार्ट्स शामिल हैं, सबसे ज्यादा महंगा है। बेंगलुरु दूसरे नंबर पर है।
  3. कोलकाता में दूध और डेयरी उत्पाद, ब्रेड उत्पाद, पेय पदार्थ, तेल, फल और सब्जियां सबसे कम दामों पर उपलब्ध हैं। पुणे दूसरे स्थान पर है।
  4. दिल्ली में शराब और तम्बाकू प्रोडक्ट सस्ते हैं।
  5. पर्सनल केयर उत्पादों के मामले में मुंबई सबसे महंगा है। उसके बाद चेन्नई और कोलकाता सबसे सस्ता है। ऊर्जा और उपयोगिता लागत मुंबई में सबसे अधिक है। उसके बाद पुणे का स्थान है।

खुद का घर हर किसी का सपना होता है, लेकिन लगातार बढ़ रही प्रॉपर्टी की कीमत बहुत से लोगों का ये सपना तोड़ सकती हैं। कोलियर्स लियासेस फोरास और CREDAI के मुताबिक साल 2024 के पहले तीन महीनों में भारत के टॉप 8 शहरों में एवरेज हाउसिंग प्राइस, यानी घरों के दाम पिछले साल की तुलना में करीब 10% तक बढ़ गए हैं। इन टॉप 8 शहरों में बेंगलुरु, मुम्बई, दिल्ली- NCR, अहमदाबाद, पुणे, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता शामिल हैं।