फोर्ड ईकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट से उठा पर्दा

0
20

कंपनी के अनुसार यूरोप में लॉन्च होने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट शुरूआत में ऑल-व्हील-ड्राइव में मिलेगी, बाद में इस में फ्रंट-व्हील-ड्राइव का विकल्प भी दिया जाएगा।

नई दिल्ली। फोर्ड ने यूरोप में लॉन्च होने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट से पर्दा उठाया है। कंपनी ने इसका कॉन्सेप्ट नवंबर 2016 में अमेरिका में पेश किया था। इसके डिजायन और फीचर में कई अहम बदलाव हुए हैं।

फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट में सबसे बड़ा बदलाव इंजन में देखने को मिलेगा, इस में नया 1.5 लीटर ईकोब्लू डीज़ल इंजन दिया गया है, जो 125 पीएस की पावर और 300 एनएम का टॉर्क देता है।

यह इंजन नए 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से जुड़ा है, इसके माइलेज का दावा 22 किमी प्रति लीटर है। कंपनी के अनुसार यूरोप में लॉन्च होने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट शुरूआत में ऑल-व्हील-ड्राइव में मिलेगी, बाद में इस में फ्रंट-व्हील-ड्राइव का विकल्प भी दिया जाएगा।

नए डीज़ल इंजन के अलावा मौजूदा मॉडल वाला 1.5 लीटर टीडीआई डीज़ल इंजन भी इस में मिलेगा, यह इंजन भारत में उपलब्ध ईकोस्पोर्ट में भी दिया गया है।

इसकी पावर 100 पीएस और टॉर्क 205 एनएम है। पुराने मॉडल में यह इंजन 5-स्पीड गियरबॉक्स से जुड़ा था, कंपनी के अनुसार फेसलिफ्ट मॉडल में यह इंजन भी नए 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ आएगा।

पेट्रोल वेरिएंट में 1.0 लीटर का ईकोबूस्ट टर्बोचार्ज्ड इंजन मिलेगा, यह इंजन भी नए 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से जुड़ा होगा। यूरोप में लॉन्च होने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट के सभी इंजन के साथ नए 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स को स्टैंडर्ड रखा गया है।

देखने वाली बात ये होगी कि भारत आने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट में कंपनी 1.5 लीटर ईकोब्लू डीज़ल इंजन देती है या नहीं। कयास लगाए जा रहे हैं कि भारत आने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट में नया 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया जा सकता है। 

फेसलिफ्ट मॉडल के अलावा कंपनी ने यूरोप में ईकोस्पोर्ट के स्पोर्टी वर्जन एसटी लाइन से भी पर्दा उठाया है। एसटी लाइन ईकोस्पोर्ट में ड्यूल-टोन कलर और नए व्हील समेत कई नए फीचर दिए गए हैं जो इसे रेग्यूलर मॉडल से अलग बनाते हैं।

चर्चाएं हैं कि भारत आने वाली फेसलिफ्ट ईकोस्पोर्ट में भी कंपनी ड्यूल-टोन कलर का विकल्प रख सकती है। इसका मुकाबला मारूति विटारा ब्रेज़ा और टाटा नेक्सन से होगा।