भारत और फ्रांस के बीच हुए 16 अरब डॉलर के 14 समझौते

0
18

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस के बीच शनि‍वार को सुरक्षा और परमाणु ऊर्जा सहि‍त अन्‍य क्षेत्रों में 14 समझौते हुए। दोनों ओर की कंपनि‍यों ने 16 अरब डॉलर के समझौते कि‍ए।

इनमें शि‍क्षा, पर्यावरण, शहरी वि‍कास और रेलवे भी शामि‍ल है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों तीन दि‍न के भारत दौरे पर आए हुए हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैक्रों की मुलाकात शनि‍वार को हैदराबाद हाउस में हुई, जि‍सके बाद इन समझौतों पर हस्‍ताक्षर हुए।

सदि‍यों पुरानी है साझेदारी
नई दि‍ल्‍ली में संयुक्‍त प्रेस वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि‍ हमारी रणनीति‍क साझेदारी भले ही 20 साल पुरानी हो मगर हमारे देशों और हमारी सभ्‍यताओं की आध्‍यात्‍मि‍क पार्टनरशि‍प सदि‍यों पुरानी है। स्‍वतंत्रता, समानता और भाईचारे की गूंज केवल फ्रांस में नहीं है।

भारतीय संवि‍धान में भी यह समाहि‍त है। हम मानते हैं कि हमारे द्वि‍पक्षीय संबंधों के उज्‍जवल भवि‍ष्‍य के लि‍ए सबसे महत्‍वपूर्ण आयाम है हमारे लोगों के बीच संवाद। डि‍फेंस सेक्‍टर में मेक इन इंडि‍या के तहत नि‍वेश करने के फ्रांस के फैसले का हम स्‍वागत करते हैं।

भारत-फ्रांस के बीच संबंध ऐतिहासिक
राष्ट्रपति भवन में सेरेमोनिअल रिसेप्शन के दौरान मैक्रों ने कहा, ‘मैं यहां आकर खासा खुश हूं। पीएम मोदी ने बीते साल जुलाई में फ्रांस की विजिट के दौरान उन्हें इन्वाइट किया था।’ दोनों देशों के बीच संबंधों को ऐतिहासिक बताते हुए उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हम दोनों के बीच अच्छी केमिस्ट्री है। दुनिया के दो महान लोकतांत्रिक देशों के बीच ऐतिहासिक संबंध हैं।’

तीन दिन के भारत दौरे पर हैं राष्ट्रपति
फ्रांस के राष्ट्रपति पत्नी ब्रिगिट के साथ तीन दिन के दौरे पर भारत आए हैं। मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर उन्हें रिसीव करने एयरपोर्ट गए। पीएम अपने संसदीय क्षेत्र बनारस में मैक्रों की भव्य खातिरदारी भी करेंगे। उन्हें नाव से गंगा की सैर कराएंगे और घाट दिखाएंगे। बता दें कि जापान के पीएम शिंजो आबे के बाद मैक्रों यहां जाने वाले दूसरे राष्ट्राध्यक्ष होंगे।

रविवार: अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन समिट में जाएंगे
– मैक्रों और मोदी अंतरराष्ट्रीय सोलर गठबंधन की पहली समिट का इनॉगरेशन करेंगे। इसकी थीम जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण है। ये समिट राष्ट्रपति भवन में होगी। इसमें 21 देशों के राष्ट्राध्यक्ष और चार देशों के प्रधानमंत्रियों के अलावा 125 देशों के रिप्रेजेंटेटिव भी हिस्सा लेंगे।

सोमवार: मिर्जापुर में सोलर प्लांट का इनॉगरेशन करेंगे
– मैक्रों उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर के दादर काला गांव में 75 मेगावाट के सोलर प्लांट का इनॉगरेशन करेंगे। वे बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में बने पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल का दौरा करेंगे। यहां हैंडीक्रॉफ्ट के सामानों का केंद्र है। मोदी ने पिछले साल इसे शुरू किया था।

फ्रांस स्कॉर्पीन सबमरीन की डील चाहता है
– फ्रांस की मीडिया के मुताबिक, मैक्रों भारत को 100 से 150 रफाल एयरक्राफ्ट बेचना चाहते हैं। स्कॉर्पीन-क्लास की सबमरीन देने की भी मंशा है। इसलिए उनके साथ फ्रांस के टॉप डिफेंस फर्म के सीईओ आ रहे हैं। इसमें डसाल्ट एविएशन, नावेल, थेल्स जैसी कंपनियां शामिल हैं। 5वीं पीढ़ी के प्लेन बनाने पर भी करार हो सकता है।

रियूनियन और जिबूती द्वीप पर हमें एंट्री मिल सकती है
– भारत-फ्रांस के बीच लॉजिस्टिक क्षेत्र में करार हो सकता है। फ्रांस मेडागास्कर के पास स्थित रियूनियन आइलैंड और अफ्रीकी बंदरगाह जिबूती में भारतीय जहाज को एंट्री दे सकता है। इससे भारत का समुद्र के रास्ते होने वाला कारोबार मजबूत होगा। जिबूती में चीनी सैन्य बेस भी है। यानी यह स्ट्रैटेजिक रूप से अहम है।

भारत में 1000 से ज्यादा फ्रेंच कंपनियां, फ्रांस में 120 भारतीय कंपनियां
– करीब 1000 फ्रेंच कंपनी भारत में है। करीब 120 भारतीय कंपनियों ने फ्रांस में निवेश कर रखा है। इन कंपनियों ने फ्रांस में 8500 करोड़ रुपए इन्वेस्ट किए हैं। फ्रांस में 7000 लोगों को नौकरी दी है। फ्रांस में भारतीय मूल के 1.1 लाख लोग रहते हैं। ये फ्रांसीसी कॉलोनी रही पुड्‌डुचेरी, कराईकल, माहे के हैं।