इस बार होली पर सर्वार्थ सिद्धि योग, आज होलिका दहन शाम 7.41 बजे

0
24

कोटा। होली इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ मनाई जाएगी। योग कई राशि के जातकों के लिए खास रहेगा। पूर्णिमा पर आज होली जलेगी और कल धुलंडी मनाई जाएगी। शहर में इस मौके पर जगह होली बनाई गई है। नयापुरा में भी थाने के सामने आदर्श होली संस्था ने होली की विभिन्न रूपों में झांकियां सजाई है।

ज्योतिषाचार्य देवेंद्र प्रतिहस्त के अनुसार इस माह में विभिन्न राशियां अपना गृह परिवर्तन करती हैं। इस कारण ही इस बार होली में बेहद खास योग बन रहा है। इस बार होली पर कुछ समय भगवान शिव की पूजा में अर्पित करें। भोलेनाथ को भांग, गुड़, बेलपत्र और दूध चढ़ाएं।

2 मार्च को सुबह 7 बजे से 9.30 बजे के बीच जलाभिषेक करें और इसके बाद अबीर, रोली के साथ पकवान भी चढ़ाएं ताकि अशांत ग्रह शांत हो जाएं और महादेव की कृपा से रुका हुआ कार्य पूर्ण हो।उन्होंने बताया कि मेष, वृष, मिथुन, कन्या, वृश्चिक, धनु, कुंभ राशि वालों के लिए यह होली लाभदायक होगी।

शाम 7.25 तक रहेगा भद्रा काल
फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा के दिन संध्याकाल में भद्रा दोष रहित समय में होलिका दहन किया जाता है। एक मार्च की सुबह 8.05 बजे तक चतुर्दशी तिथि रहेगी। इसके बाद शाम 7.25 बजे तक भद्रा रहेगा। उसके बाद दहन का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त 7.41 बजे का होगा।

दो मार्च की सुबह होली खेली जाएगी। पूर्णिमा तिथि के बीच गुरुवार को होलिका दहन हो रहा है। जिससे सिद्धि योग बन रहा है। इसका प्रभाव देश, राज्य एवं समस्त जनों के लिए बहुत ही शुभ और कल्याणकारी होगा। आपस में मेलजोल और सामाजिक सौहार्द्र कायम होगा।