राजस्थान से 40 हजार प्रवासी मजदूर बसों से उनके घर रवाना

998

जयपुर। राजस्थान सरकार ने राज्य के अलग-अलग इलाकों में फंसे मजदूरों को उनके घर भेजना शुरू कर दिया है। बुधवार से गुरुवार सुबह तक करीब 40 हजार मजदूर और कामगार अपने घरों के लिए रवाना हो गए। बताया जा रहा है कि इनके लिए बसों की व्यवस्था की गई। 26 हजार को मध्यप्रदेश के बॉर्डर पर और दो हजार को हरियाणा बॉर्डर पर पहुंचा दिया गया है।

इस बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर श्रमिकों और प्रवासियों की घर वापसी के आदेश जारी करने का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि लाखों प्रवासियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए बिना देर किए विशेष ट्रेनें चलानी चाहिए।

राज्य सरकार ने इसके लिए आनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था की है, जिसमें बुधवार रात तक करीब 6 लाख 35 हजार श्रमिकों और प्रवासियों ने अपना पंजीयन कराया है। राज्य में बुधवार शाम तक 6.35 लाख लोगों ने घर वापसी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। इनमें से 4.49 लाख ने राजस्थान आने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है। कुल आने-जाने वालों में से 4.98 लाख के पास वाहन नहीं हैं, जबकि करीब डेढ़ लाख के पास अपने वाहन हैं।