बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स मामूली तेजी के साथ 61 हजार से नीचे बंद

27

मुंबई। उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) मंगलवार को 37 अंक के मामूली लाभ में रहा। वाहन शेयरों में लिवाली का लाभ बैंक और ऊर्जा शेयरों में बिकवाली दबाव जाता रहा और बाजार का लाभ सीमित रहा।

तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 37.08 अंक यानी 0.06 प्रतिशत की मामूली तेजी के साथ 60,978.75 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स शुरू में बढ़त के साथ खुला और एक समय 300 अंक तक चढ़ गया था।

हालांकि, बाद में बिकवाली दबाव से इसमें गिरावट आई और यह दिन के उच्चस्तर से 400 अंक से अधिक नीचे 60,849.12 तक आ गया था। पचास शेयरों पर आधारित एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) भी 18,118.30 अंक पर स्थिर बंद हुआ। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख का असर घरेलू बाजार पर शुरू में दिखा। वाहन शेयरों की अगुवाई में बाजार में सोमवार की तरह तेजी रही।

हालांकि, बैंक शेयरों में बिकवाली दबाव से दोनों मानक सूचकांक स्थिर बंद हुए।’’ उन्होंने कहा कि प्रमुख वाहन कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया के वित्तीय परिणाम को लेकर वाहन शेयरों में लिवाली देखने को मिली। अमेरिकी अर्थव्यवस्था में संकट दूर होने तथा नीतिगत दर में अपेक्षाकृत कम वृद्धि की संभावना से वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी रही।

सेंसेक्स के शेयरों में टाटा मोटर्स सर्वाधिक 3.26 प्रतिशत चढ़ा। मारुति का शेयर 3.23 प्रतिशत चढ़ा। कंपनी का लाभ दिसंबर तिमाही में दोगुना से अधिक होकर 2,351.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसके अलावा, एचसीएल टेक, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी लि., एशियन पेंट्स, इंडसइंड बैंक, टीसीएस और आईटीसी भी प्रमुख रूप से लाभ में रहे।

दूसरी तरफ, नुकसान में रहने वाले वाले शेयरों में एक्सिस बैंक, एलएंडटी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एसबीआई, कोटक बैंक, टाटा स्टील और पावर ग्रिड शामिल हैं। एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की और आस्ट्रेलिया का एस एंड पी/एएसएक्स 200 लाभ में रहे। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) शुद्ध बिकवाल रहे। उन्होंने सोमवार को 219.87 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।