बजट सत्र के पहले दिन ही विपक्षी सदस्यों ने किया जमकर हंगामा

0
35

जयपुर। राज्यपाल कल्याण सिंह के अभिभाषण के साथ ही राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र सोमवार को शुरू हो गया। अभिभाषण के दौरान विपक्षी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया।

विपक्षी सदस्य लगातार सरकार पर हमले, नारेबाजी करते रहे। वहीं सरकार की ओर से संसदीय कार्य मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने राज्यपाल से अनुरोध किया की वे अभिभाषण का अंतिम पैरा पढ़ दें ताकि इसे पढ़ा हुआ मान लिया जाए। शोकाभिव्यक्ति के बाद विधानसभा की कार्यवाही मंगलवर तक के लिए स्थगित कर दी गई। 

यह बोले हनुमान बेनिवाल
राज्यपाल महोदय पिछले चार साल से आपसे झूठ का पुलिंदा पढ़वाया जा रहा है। किसानों की हालत खराब है। वे आत्महत्या कर रहे हैं। महिलाओं से बलात्कार हो रहे हैं। कानून व्यवस्था नाम की चीज नहीं है। इस पर रमेश मीणा ने भी बोलना शुरू कर दिया।

उन्होंने भी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दी। मीणा बोले, राज्य में बजरी माफिया हावी है। राज्यपाल महोदय आप इस सरकार के बहकावे में नहीं आएं। सरकार को सचेत कीजिए। सुराज संकल्प यात्रा में इन्होंने जो वादे किए उन्हें पूरा कराया जाए। बेराजगार इनकी लाठियां खा रहे हैं।

हंगामा होकर रहा
जिसकी उम्मीद थी आखिर वहीं हुआ। बजट सत्र के पहले दिन ही सदन में जमकर हंगामा हुआ।राज्यपाल कल्याण सिंह ने जैसे ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया विपक्षी सदस्यों ने बोलना शुरू कर दिया। निर्दलीय हनुमान बेनिवाल और कांग्रेस के रमेश मीणा लगातार बोलते रहे।

मौजूदा भाजपा सरकार का यह आखिरी बजट सत्र होगा। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 12 फरवरी को बजट पेश करेंगी।
अजमेर, अलवर लोकसभा तथा मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा को मिली करारी हार के बाद राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र शुरू हुआ है। सत्र की तैयारियों तथा सरकार को घेरने को रणनीति बनाने के लिए कांग्रेस विधायक दल की बैठक आयोजित की जाएगी। 

विपक्ष ने भी बनाई रणनीति
सत्र की तैयारियों को लेकर रविवार को भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी। उपचुनाव में मिली जीत से कांग्रेस आक्रामक मुद्रा में है वहीं भाजपा डिफेंसिव नजर आ रही है।मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में विधानसभा की हां पक्ष लॉबी में हुई बैठक में सरकार के सभी मंत्री शामिल हुए।

बैठक में शामिल होने आए मंत्री मीडिया के सवालों से बचते नजर आए। मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि सरकार बजट सत्र व विपक्ष के हमलों का जवाब देने के लिए तैयार है। कांग्रेस भले ही जीत गई है, लेकिन वह अभी भी बिखरी हुई है। बैठक के बाद मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा, विधायकों को कहा गया है कि वे सत्र में उपस्थित रहें।

सीएम राजे ने कहा कि उपचुनावों में हार से चिंता करने की जरूरत नहीं है। जो भी कमियां रही हैं उन्हें दूर किया जाएगा। हार से घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम विकास के आधार पर ही जनता के सामने जाएंगे।