विप्रो के मुनाफे में 6% और एक्सिस बैंक के 36% तक की वृद्धि

0
23

नई दिल्ली । देश की तीसरी सबसे बड़ी आइटी कंपनी विप्रो ने मंगलवार को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के लिए अपने नतीजे घोषित कर दिए। जुलाई से सितंबर की इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 5.8 फीसद बढ़कर 2,191.8 करोड़ रुपये रहा।

कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 2,070.4 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। हालांकि समीक्षाधीन तिमाही के दौरान कंपनी की आय में 1.9 फीसद की मामूली गिरावट आई। इससे कंपनी की कुल आय 14,134.8 करोड़ रुपये रही। विप्रो ने अगली तिमाही के लिए भी कमाई के उत्साहजनक अनुमान नहीं पेश किए हैं।

कंपनी के लाभ में वृद्धि कुल खर्चो में कमी, वित्तीय लागत घटने और अन्य आय में बढ़ोतरी के चलते हासिल हुई है। ऊर्जा क्षेत्र का प्रदर्शन मध्य पूर्व में दूसरी तिमाही के दौरान छुट्टियों के चलते प्रभावित हुआ है। सीईओ अब्दाली जेड नीमचवाला ने कहा कि आइटी सेवाओं से आय के मामले में हम दो अरब डॉलर का आंकड़ा हासिल करने में कामयाब रहे।

तिमाही दर तिमाही आधार पर आइटी सेवाओं के रेवेन्यू में डॉलर के लिहाज से 2.1 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज हुई। रेवेन्यू का यह आंकड़ा 2.01 अरब डॉलर हो गया। दूसरी तिमाही में कंपनियों की कुल संख्या 1,63,759 रही। इससे पिछली तिमाही में यह आंकड़ा 1,66,790 था। समीक्षाधीन 

एक्सिस बैंक का लाभ 36 फीसद बढ़ा
चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में एक्सिस बैंक का शुद्ध लाभ करीब 36 फीसद बढ़कर 432 करोड़ रुपये हो गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में निजी क्षेत्र के इस तीसरे सबसे बड़े बैंक ने 319 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था।

तीस सितंबर, 2017 को समाप्त तिमाही में बैंक की कुल आय पूर्व वर्ष की समान अवधि के 13,698 करोड़ से बढ़कर 13,821 करोड़ रुपये हो गई। इस दौरान बैंक के ग्रॉस एनपीए (फंसे कर्ज) का आंकड़ा भी बढ़कर 5.9 फीसद पर पहुंच गया।

रुपये में बात करें तो दूसरी तिमाही में एक्सिस बैंक का ग्रॉस एनपीए बढ़कर 27,402 करोड़ रुपये रहा। इस दौरान एक्सिस बैंक का नेट इंटरेस्ट माजिर्ंन 3.63 फीसद से घटकर 3.45 प्रतिशत पर आ गया।

एसीसी सीमेंट का मुनाफा हुआ दोगुना
समीक्षाधीन तिमाही में एसीसी सीमेंट ने मुनाफे में दोगुना से ज्यादा की वृद्धि का एलान किया। इस दौरान कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट बढ़कर 181.53 करोड़ रुपये हो गया।

बीते साल की समान अवधि में यह 89.73 करोड़ रुपये था। कंपनी की बिक्री में भी 9.42 फीसद का इजाफा हुआ है। चालू साल की दूसरी तिमाही में कंपनी के कंसॉलिडेटेड सेल्स का आंकड़ा 3,140.76 करोड़ रुपये रहा।

बजाज ऑटो का लाभ घटा
चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बजाज ऑटो के मुनाफे में मामूली कमी आई है। इस दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ छह फीसद घटकर 1,193.6 करोड़ रुपये रहा। समीक्षाधीन तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय में भी गिरावट आई।

कंपनी ने इसके लिए बिक्री में कमी को जिम्मेदार ठहराया है। इस माहौल में पुणो की इस कंपनी ने मंगलवार को नतीजों के साथ ही अपनी प्रीमियम मोटरसाइकिलों को ऑस्ट्रेलिया और थाइलैंड निर्यात करने का भी एलान किया।