थाइलैंड में होगी कैस्ट्रॉल एशिया पैसेफिक मैकेनिक प्रतियोगिता

0
38

राजस्थान के धर्मेश शर्मा, जितेंद्र सैनी और जाकीर हुसैंन करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व

कोटा। मुंबई में संपन्न हुए कैस्ट्रॉल सुपर मैकेनिक आल इंडिया फाइनल्स में कैस्ट्रॉल सुपर मैकेनिक ऑफ इंडिया का खिताब जीतने के लिए पूरे देश से चुन कर आई तीन-तीन मैकेनिकों की आठ टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली।

विजेता टीम कैस्ट्रॉल एशिया पैसेफिक फाइनल्स में भाग लेने के लिए थाइलैंड रवाना होने से पहले 6 से 8 नवंबर के दौरान मुंबई में लगने जा रहे एक आखिरी प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लेगी। फाइनल्स के लिए चुने गए मैकेनिकों के कौशल एवं ज्ञान की परीक्षा लेने हेतु अंतिम फेरी में एक प्रश्नोत्तरी तथा एक व्यावहारिक ज्ञान का चक्र शामिल किया गया था।

ये प्रतियोगी देश के कोने-कोने से भाग लेने वाले 60,000 मैकेनिकों के बीच से दो चक्रों का कड़ा मुकाबला जीत कर फाइनल्स में पहुंचे थे। कैस्ट्रॉल सुपर मैकेनिक प्रतियोगिता का भारतीय संस्करण कैस्ट्रॉल की तरफ से आरंभ किए गए एक एशियाव्यापी उपक्रम का हिस्सा था।

यह उपक्रम दुपहिया वाहनों के मैकेनिकों को अपने ज्ञान एवं प्रतिभा का प्रदर्शन करने तथा उनके कौशल को धार देने के उद्देश्य से संचालित किया गया। केदार आपटे, वाइस प्रेसिडंट मार्केटिंग, कैस्टॉल इंडिया के अनुसार कैस्ट्रॉल सुपर मैकेनिक प्रतियोगिता दुपहिया वाहनों के मैकेनिकों की रखरखाव-प्रवीणता में सुधार लाने तथा इसका परीक्षण करने हेतु रची गई है।