30 सितंबर के बाद अमान्य हो जाएंगे इन बैंकों के चेक

0
35

बैंक ने ग्राहकों को तुरंत प्रभाव से नई चेक बुक का आवेदन करने के लिए इसलिए कहा है कि क्योंकि 30 सितंबर, 2017 के बाद पुराने बैंक के चेक और IFS कोड वैध नहीं होंगे। 

नई दिल्ली । देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने पांच पूर्व सहयोगी बैंक और भारतीय महिला बैंक के ग्राहकों से नई चेक बुक के आवेदन के लिए कहा है।

बैंक ने ग्राहकों को तुरंत प्रभाव से नई चेक बुक का आवेदन करने के लिए इसलिए कहा है कि क्योंकि 30 सितंबर, 2017 के बाद पुराने बैंक के चेक और IFS कोड वैध नहीं होंगे। इन्हें अमान्य करार दिया जाएगा।

एसबीआई ने ग्राहकों से कहा है कि नई चेक बुक के लिए इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या फिर शाखा में जाकर तुरंत आवेदन कर लें।

 जिन सहयोगी बैंकों का एसबीआई में विलय किया गया है उनमें स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक शामिल हैं।

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर में एसबीआइ का 90 फीसद हिस्सा था जबकि बीकानेर एंड जयपुर में 75.07 फीसद था। त्रवणकोर में एसबीआइ की हिस्सेदारी 79.09 फीसद है।

SBI ने पेश किया उन्नति क्रेडिट कार्ड
एसबीआई ने नये क्रेडिट कार्ड की पेशकश की है। बैंक ने इसका नाम उन्नति क्रेडिट कार्ड रखा है। पहले चार वर्षों के लिए यह सेवा पूरी तरह मुफ्त रखी गई है। अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह ही यहां भी उपयोग पर रिवार्ड प्वाइंट्स की सुविधा है।

एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, कार्ड से सौ रुपए की शॉपिंग करने पर एक रिवार्ड प्वाइंट मिलेगा। इन प्वाइंट्स को रीडिम करने के बदले गिफ्ट दिए जाएंगे।

साथ ही इसके एक वर्ष में 50 हजार रुपए या ज्यादा खर्च करने पर 500 रुपए केशबैक की सुविधा है। यह कार्ड एसबीआई के उन ग्राहकों के लिए होगा, जिन्होंने बैंक में 25 हजार या इससे ज्यादा की एफडी करवाई है।

ग्राहक एसबीआई उन्नति कार्ड का इस्तेमाल दुनियाभर के 24 मिलियन आउटलेट में कर सकते हैं, इसमें 3,25,000 आउटलेट भारत में हैं।