कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: पटना से दिल्ली तक प्लेन से एग्जाम देने आया था फर्जी परीक्षार्थी

0
269
नकली परीक्षार्थी दीपक गिरफ्तार

कोटा। कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में 6 नवंबर को जिस फर्जी परीक्षार्थी दीपक शुक्ला को पुलिस ने पकड़ा था, वो एग्जाम देने के लिए पटना से दिल्ली तक हवाई जहाज से आया था। दिल्ली से उसे कार से कोटा लाया गया। दरअसल, दीपक शुक्ला सिर्फ एक मोहरा है, इसके पीछे पूरी एक गैंग काम कर रही हैं। यह गैंग ऐसे पहले ऐसे परीक्षार्थी को चिन्हित करती है, जो परीक्षा क्लीयर करने के लिए पैसे दे सकते हों।

परीक्षार्थी से 5-5 लाख रुपयों तक की वसूली की जाती है, जाे पूरी गैंग में बांट दिया जाता है। यह चौंकाने वाले खुलासे आरोपी से पूछताछ व पुलिस की अब तक की जांच में हुए हैं। पुलिस ने शुक्ला को 6 नवंबर को पकड़ा था। इसके बाद जब उससे पूछताछ की तो उसने कहा कि वो 5 नवंबर को पटना से हवाई जहाज से दिल्ली आया जहां एक व्यक्ति उसे रिसीव करने आया। दिल्ली से जयपुर हाेते हुए कोटा आया ।

ऐसे पकड़ में आया था शुक्ला बामनवास निवासी रामविलास गुर्जर असली परीक्षार्थी है, जिसे अनंतपुरा थाना क्षेत्र रोड नंबर-7 स्थित मां भारती टीटी कॉलेज में बने परीक्षा केन्द्र पर शुक्रवार 6 नवंबर को परीक्षा देनी थी। वो परीक्षा देने नहीं आया और उसने उसकी जगह बिहार निवासी दीपक शुक्ला उसका परमिशन लेटर व आधार कार्ड लेकर परीक्षा देने भेजा। परीक्षा केन्द्र पर मौजूद पुलिस जाब्ते ने जब आधार कार्ड से फोटो मैच किया तो उसे बाहर निकाल दिया। उसके पास मौजूद रामविलास के परमिशन लेटर ने संदेह पैदा किया, जिसके आधार पर वो पकड़ा गया।

कोटा में फिजिकल परीक्षा के दौरान फर्जीवाड़ा करने वाला एक परीक्षार्थी दो साल पहले भी पकड़ा गया था। अलवर निवासी अभ्यर्थी राजेश मीणा ने कोटा शहर पुलिस के लिए कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में आवेदन किया था। राजेश का जीजा योगेश नकल गिरोह चलाता था। योगेश ने उसे 2 लाख रुपए में लिखित परीक्षा में पास कराने का लालच दिया।