पूजा गायतोंडे व ममता जोशी के शास्त्रीय संगीत की प्रस्तुतियों में डूब गए श्रोता

0
68

कोटा। देश-विदेश में प्रस्तुतियां दे चुकी मुंबई की पूजा पूजा गायतोंडे व ममता जोशी के शास़्त्रीय गायन व सुफी कलाम ने रसिक श्रोताओं को संगीत की दुनियां में डूबो दिया। मौका था शनिवार देर शाम नगर निगम कोटा की ओर से आयोजित राष्ट्रीय दशहरा मेला 2019 के उपलक्ष्य में श्रीनाथपुरम स्थित यूआईटी के ऑडिटोरियम में शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम की प्रस्तुति का। पूजा व ममता के साथ सह कलाकारों ने भी दमदार संगत की।

शुरुआत पंचदेवों की आराधना से की। इसके बाद लंका विजय परण, झूलना परण, हनुमत विजय परण, गुरू स्वामी पागलदास वंदना के साथ अतिद्रुतलय में चक्रदार एवं विभिन्न तिहाइयों से ओतप्रोत रैला आदि प्रस्तुत कर सुधिश्रोताओं को रसविभोर कर दिया। सह कलाकारों ने भी दमदार संगत की। ऑडिटोरियम में हुई शास्त्रीय संगीत की प्रस्तुतियों ने रसिक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। संचालन डाॅ. रेणु श्रीवास्तव ने किया।

सांवरिया के भजन व गजल भी सुनाई
पूजा गायकोंडे ने श्रोताओं की फरमाईश पर राजस्थानी गीत पधारो म्हारे देश की भी बेहतर प्रस्तुति दी। इसके बाद उन्होंने कुछ गजलें भी पेश की। ममता जोशी ने सुफियाना कलाम पेश किए। कव्वाली व गजले भी पेश की। स्थानीय फनकार प्रखर जोजन ने राग यमन व ठुमरी से शुरुआत की। प्रखर ने सांवरिया देख जरा इस ओर सुनाकर माहौल को नई ऊंचाई दी।