राजस्थानी कवि सम्मेलन: थू सुण ले पाकिस्तान मान ले म्हारी बात…..

0
445

कोटा। नगर निगम कोटा की ओर से आयोजित राष्ट्रीय दशहरा मेला 2019 के उपलक्ष्य में विजयश्री रंगमंच पर शनिवार देर रात तक अखिल भारतीय राजस्थानी भाषा कवि सम्मेलन में कवियों ने अपनी रचनाओं से श्रोताओं को बांधे रखा। प्रदेश भर से आए कवियों ने अपनी रचनाओं में कभी हंसाया तो कभी देश की स्थिति पर सोचने को मजबूर कर दिया। संतों व राजनीति के गिरते स्तर पर भी जमकर कटाक्ष किए।

पूर्व सांसद इज्यराजसिंह, कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन, महासचिव अशोक माहेश्वरी, उद्योगपति गोविंदराम मित्तल ने विधिवत दीप प्रज्ज्वलित कर शुरूआत की। कवि देशबंधु दाधीच ने थू सुण ले पाकिस्तान मान ले म्हारी बात ने… सुनाकर पाकिस्तान पर निशाना साधा। जोश से जोहर री गाथा खेग्या बूूंदी हाळा…।

कवि डाॅ. अंबिकादत्त चतुर्वेदी ने नुंगरो होयो वोट म खड़ो अर नुंगरो जाण सभी पेतरा…कोई चाहे जस्याई लड़े जीतैगो नुगरोई देखज्यो भल्याई वोट कोई का पड़े…ने देश की वर्तमान राजनीति पर खूब कटाक्ष किए। कवि विश्वामित्र दाधीच ने आओ मिलकर राजस्थानी री ई माटी न नमन करा….।

बाबू बंजारा ने गांधी बाबा पाछो आजा देख देश की आजादी की….छोरा छोरी घणा बगडरिया देखो मार छ मिस काॅल…. रचना सुना मोबाइल के दुरूपयोग व देश की स्थिति पर कटाक्ष किया। बंजारा ने सुन ले सुन ले नवाज उंची मत कर तू आवाज…सुनाकर पाकिस्तान के खिलाफ माहौल बना दिया। पांडाल भारत माता के जयकारों से गूंज उठा।

मंच से राजस्थानी भाषा के कवि मुकुट मणिराज, दुर्गादानसिंह गौड़, गौरस प्रचंड, प्रेमशास्त्री, मुरलीधर गौड़, रामनारायण हलधर, गोविंद हांकला, मारवाड़ी गीतकार सोहनलाल चैधरी, दिनेश मालव, आंनद हजारी, विष्णु विश्वास, रमेश राजस्थानी, श्रेणीदान चारण, अंदाज हाड़ोती, दिनेश बंटी, धीरेंद्र सिंह सावंत, गिर्राज आमेठा, विष्णु शर्मा, भैरूलाल भास्कर, नहुष व्यास, दिनेश चैरसिया, ताउ शेखावटी, सुरेंद्र वैष्णव, राजकुमार बादल व प्रहलाद सिंह जोहड़ा ने काव्य पाठ किया।

कवि अम्बिकादत्त चतुर्वेदी काव्य रत्न से सम्मानित
कवि सम्मेलन में विजयश्री रंगमंच से कोटा के वरिष्ठ कवि अम्बिकादत्त चतुर्वेदी को निगम प्रशासन द्वारा काव्य रत्न से नवाजा गया। 31 हजार रुपये, शील्ड व शॉल ओढाई। इस दौरान महापौर महेश विजय, मेला अधिकारी कीर्ति राठौड़, मेला अध्यक्ष राममोहन मित्रा, राजस्व समिति अध्यक्ष महेश गौतम लल्ली, पार्षद नरेंद्र सिंह हाड़ा, दौलतराम, सीएफओ देवेंद्र गौतम ने इस सम्मान के साथ अम्बिकादत्त चतुर्वेदी का माल्यार्पण भी किया।