देश की पहली पेपरलेस विधानसभा राजस्थान में बने, बिड़ला ने कहा

0
536

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में विधायकों को संसदीय परंपराओं की जानकारी देने के लिए रविवार को प्रबोधन कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन सुबह लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने किया और शाम को समापन पूर्व पीएम प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने। बिड़ला ने संसदीय परंपराओं पर जोर दिया तो डॉ. मनमोहन ने कहा विधायकों काे विकास के लिए जो राशि मिलती है उसे उन्हें पूरी जिम्मेदारी से खर्च करना चाहिए।

बिड़ला ने विधानसभा में वेब पोर्टल, डैश बोर्ड और मोबाइल एप लांच किया। उन्होंने विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी से कहा मैं राजस्थान विधानसभा को देश की पहली पेपर लैस विधानसभा बनते देखना चाहता हूं।

लाेकसभा से विधानसभा कनेक्ट करेंगे
बिड़ला ने विधानसभा संचालन पर कई सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा हम राजस्थान विधानसभा को लोकसभा से कनेक्ट करना चाहते हैं। यदि कोई विधायक को कोई बिल पर बोलना है। वह रेफरेंस विभाग में टेलीफोन करेगा और हम अगले सत्र में उसे पूरा मेटिरियल भेजने का काम करेंगे।

लोकसभा की तरह यहां भी हो ऑनलाइन :
प्रश्न लगाने के लोकसभा में सदस्य पर्ची डालने आते थे। मैंने कहा क्या जरूरत है। उन्होंने स्पीकर डॉ.सीपी जोशी से कहा यहां भी व्यवस्थाओं को ऑनलाइन करना चाहिए।

मैंने लोकसभा की परंपराएं बदलीं : बिड़ला
बिड़ला बोले मैंने लोकसभा की परंपराएं बदली। अध्यक्ष बना कई सदस्य ऐसे रहे जिन्होंने लोकसभा में एक बार भी नहीं बोला। मैंने स्पीकर बनने के बाद 90 नए सदस्यों को बुलवाया। एक महिला बीजू जनता दल से थी जो 70 हजार महिलाओं को प्रशिक्षित करती थीं। मैंने कहा आपको बोलना है।

उन्होंने कहा मैं कल बोलूंगी लेकिन मैंने कहा कि आपको आज ही बोलना है। बिरला बोले कि पीएम ने कहा जो बेहतरीन काम कर रहे हैं, उनका लोकसभा में मेंशन होना चाहिए। विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी द्वारा हाल में लागू की गई व्यवस्थाओं पर बिड़ला ने कहा, मुझसे भी ज्यादा अनुशासनप्रिय सीपी जोशी साहब हैं, इन्होंने ज्यादा ही अनुशासन कर दिया। लेकिन ऐसा होना चाहिए।

विधायक फंड का पूरा इस्तेमाल नहीं कर रहे : मनमाेहन
प्रबोधन कार्यक्रम के समापन के लिए पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने विधायकों से फंड का पूरा इस्तेमाल करने की अपील की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले कार्यकाल में विधायकों के लिए लोकल एरिया डवलपमेंट फंड को एक करोड़ से 2 करोड़ किया था, लेकिन मैंने किसी अखबार में पढ़ा था कि सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान के विधायकों ने 2011 से 2016 तक इस फंड की 21 प्रतिशत राशि खर्च की और 1093 करोड़ का इस्तेमाल ही नहीं किया।

डॉ. सिंह ने कहा कुछ दिन पहले शिक्षाविदों ने कहा देश में ऐसा माहौल हो गया है कि यहां विकास की जगह भय की राजनीति जगह लेती जा रही है। उन्होंने कहा कि यह विधायकों से कहा कि यह आप लोगों की जिम्मेदारी है कि ऐसा नहीं हो। मनमोहन सिंह ने कहा है कि मुझे खुशी है कि संसदीय परंपराओं को लेकर यहां विधायकों में उत्साह है इसलिए सभी विधायक इस कार्यशाला में आए हैं।

इस कार्यशाला के लिए स्पीकर डॉ.सीपी जोशी का आभार भी जताया। राजस्थान विधानसभा में एक नवाचार के रूप में शुरू किया गया प्रबोधन कार्यक्रम नवनिर्वाचित सदस्य के लिए संसदीय प्रक्रियाओं, नियमों एवं परम्पराओं को समझने का एक सशक्त मंच है।

राजस्थान विधानसभा की नई वेबसाइट, मोबाइल ऐप का लोकार्पण
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने रविवार को राजस्थान विधानसभा की नई वेबसाइट और मोबाइल ऐप का लोकार्पण किया। बिरला ने राजस्थान विधानसभा की नवीन वेबसाइट, एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर विधानसभा के मोबाइल एप्लीकेशन तथा विधानसभा सचिवालय के डैश बोर्ड ‘ग्रीन असेंबली‘ का लोकार्पण किया।

उन्होंने पहली विधानसभा से नौंवी विधानसभा (1952 से 1998 तक) के डिजिटाइज्ड कार्यवाही वृत्तांतों को भी नवीन वेबसाइट पर लॉन्च किया। कार्यक्रम के दौरान राजस्थान विधानसभा के सभी वर्तमान सदस्य और कई पूर्व सदस्य भी मौजूद रहे।

राजस्थान विधानसभा की नई वेबसाइट, मोबाइल ऐप का लोकार्पण
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने रविवार को राजस्थान विधानसभा की नई वेबसाइट और मोबाइल ऐप का लोकार्पण किया। बिरला ने राजस्थान विधानसभा की नवीन वेबसाइट, एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर विधानसभा के मोबाइल एप्लीकेशन तथा विधानसभा सचिवालय के डैश बोर्ड ‘ग्रीन असेंबली‘ का लोकार्पण किया।

उन्होंने पहली विधानसभा से नौंवी विधानसभा (1952 से 1998 तक) के डिजिटाइज्ड कार्यवाही वृत्तांतों को भी नवीन वेबसाइट पर लॉन्च किया। कार्यक्रम के दौरान राजस्थान विधानसभा के सभी वर्तमान सदस्य और कई पूर्व सदस्य भी मौजूद रहे।