गुर्जर समाज बेटियों को शिक्षा और संस्कार देने में आगे आए: बिरला

179

कोटा। संसदीय क्षेत्र के प्रवास पर आए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरूवार को सुभाष नगर में वीर गुर्जर विकास समिति की ओर से आयोजित होली मिलन और सम्मान समारोह में भाग लिया। कार्यक्रम में स्पीकर बिरला ने कहा कि समाज बेटियों को शिक्षा और संस्कार देने में आगे आए ताकि वे भी समाज में नेतृत्व कर सकें।

स्पीकर बिरला ने छात्रावास में नवनिर्मित पन्ना धाय हाॅल का लोकार्पण करते हुए कहा कि राष्ट्रभक्ति गुर्जर समाज के लोगों के व्यक्तित्व का स्थायी भाग है। मां पन्नाधाय इसका सबसे सशक्त उदाहरण है जिन्होंने देशहि में अपनी संतान को कुर्बान कर दिया। इतिहास भी बताता है कि जहां भी गुर्जरों का शासन रहा वहां मातृभूमि के लिए बलिदान और कुर्बानियों के साथ समाज की सेवा और कल्याण के भी अनेक काम हुए।

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि देश की सीमाओं से लेकर हमारे वनों तक और पर्यावरण से लेकर संस्कृति के संरक्षण में गुर्जर समाज सदैव अग्रणी है। आजादी की लड़ाई में भी उनका गौरवशाली योगदान रहा है। बदलते समय के साथ समाज अब आधुनिक आवश्यकताओं के अनुरूप स्वयं में व्यापक बदलाव ला रहा है। लेकिन शिक्षा के क्षेत्र में अब भी काफी कुछ किए जाने की आवश्यकता है। समाज के जो युवा विशेष तौर पर जो बेटियां पढ़ना चाहती हैं, वे अपने सपनों को पूरा कर सकें इसके लिए हमें सामूहिकता से प्रयास करने होंगे। कार्यक्रम को कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा और प्रेम गोचर ने भी संबोधित किया।

कर्नल बैंसला के योगदान का किया याद
कार्यक्रम के दौरान स्पीकर बिरला ने डा. किरोड़ी सिंह बैंसला के योगदान का भी स्मरण किया। उन्होंने कहा कि सेना में रहते हुए कर्नल बैंसला ने देश की सेवा की। सामाजिक क्षेत्र में आने के बाद उन्होंने सामाजिक अधिकारों के लिए संघर्ष किया। उनका संघर्ष तभी सफल होगा जब समाज का प्रत्येक बच्चा शिक्षित और संस्कारी बनेगा।

छात्रावास के लिए हमेशा आपके साथ
स्पीकर बिरला ने समाज के लोगों को आश्वस्त किया बच्चों और युवाओं की शिक्षा के साथ उनके आवास के समुचित इंतजाम के लिए भी वे सदैव उनके साथ हैं। जो छात्रावास कुछ कमरों से प्रारंभ हुआ था अब वे विशाल स्वरूप लेता जा रहा है। छात्रावास का शेष जो भी काम हैं उसका सामूहिकता से पूरा करवाने में वे अपना योगदान देंगे।