IPO से निवेशकों को 3 गुना तक रिटर्न

0
13

नई दिल्‍ली।  IPO में निवेश करने वाले निवेशकों को वित्‍त वर्ष 2017-18 में अच्‍छा रिटर्न मिला है। इस दौरान लिस्‍ट होने वाले IPO में करीब 65 फीसदी अपने इश्‍यु प्राइस से ऊपर चल रहे हैं, जबकि कुछ ने तो तीन गुना तक रिटर्न दिया है। यह जानकारी NSE की तरफ जारी डाटा में सामने आई है।

पिछले वित्‍त वर्ष में 41 कंपनियों ने IPO जारी किया था। इसमें से 27 कंपनियों के शेयर के भाव इश्‍यु प्राइस से ऊपर हैं। बाकी 14 कंपनियों के भाव हालांकि इश्‍यु प्राइस से नीचे चल रहे हैं। यह जानकारी एक रिसर्च में सामने आई है। जिन 27 कंपनियों ने अच्‍छा रिटर्न दिया है उनमें से कुछ के काफी अच्‍छे हैं, जो अधिकतम 325 फीसदी तक हैं।

इनमें से 6 कंपनियों का रिटर्न 100 फीसदी से ज्‍यादा रहा है। IPO लाने वाली कंपनियों में एक है शंकारा बिल्डिंग प्रॉडक्‍ट जिसने 27 अप्रैल 2018 तक 325 फीसदी का रिटर्न दिया था।

अन्‍य सफल IPO
इसके अलावा अपेक्‍स फ्रोजन फूड्स ने 270 फीसदी तक और सालासार टेक्‍नो ने निवेशकों को 258 फीसदी तक का रिटर्न दिया है। इसके अलावा आस्‍ट्रोन पेपर एंड बोर्ड और पीएसपी प्रोजेक्‍ट ने अपने निवेशकों को 174 फीसदी का रिटर्न दिया है। वहीं AU स्‍मॉल बैंक ने निवेशकों को करीब 103 फीसदी का रिटर्न दिया है।

इन IPO में भी मिला अच्‍छा रिटर्न
इसके अलावा सीडीएसएल, डाक्‍सोन टेक्‍नोलॉजी, बंधन बैंक, कोचीन शिपयार्ड, गोदरेज एग्रोवेट, प्रताप स्‍नैक्‍स सहित सिक्‍यारिटी एंड इंटेलीजेंस सर्विस ने भी अपने निवेशकों को अच्‍छा रिटर्न दिया है।

इन IPO में निवेश करने वाले नुकसान में
कई कंपनियों के IPO में निवेश करने वालों को नुकसान भी हुआ है। इनमें एस चंद में निवेश करने वालों को सबसे ज्‍यादा नुकसान हुआ है। यह अपने इश्‍यु प्राइज से करीब 41 फीसदी नीचे चल रहा है।

वहीं जनरल इंश्‍योरेंस कार्पोरेशन ऑफ इंडिया का शेयर अपने इश्‍यु प्राइस से करीब 22 फीसदी नीचे चल रहा है। वहीं न्‍यू इ‍ंडिया एस्‍योरेंस कंपनी का शेयर अपने इश्‍यु प्राइस से करीब 17 फीसदी नीचे चल रहा है।