रिलायंस इंडस्ट्री का मुनाफा 17.26% बढ़कर 9435 करोड़ हुआ

0
5

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्री के लिए फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही बेहतर रही है। इस दौरान कंपनी की आय 1 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा रही। चौथी तिमाही में आरआईएल का मुनाफा 17.26 फीसदी बढ़कर 9435 करोड़ रुपए रहा है।

वहीं, इस दौरान टेलिकॉम वर्टिकल Jio का मुनाफा 504 करोड़ से बढ़कर 510 करोड़ रुपए रहा है। चौथी तिमाही में आरआईएल का जीआरएम 11 डॉलर प्रति बैरल रहा है। कंपनी ने 6 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड देने का ऐलान किया है।

-कंपनी का PBDIT (डेप्रिशिएशन इंटरेस्‍ट और टैक्‍स के बाद प्रॉफिट) पहली बार 10 अरब डालर के पार निकला।
-वित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान कंपनी की नेट रेवेन्‍यू 4,30,731 करोड़ रुपए रहा।
-इसमें 30.5 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई।
-वित्‍त वर्ष 2016-17 के दौरान कंपनी की नेट रेवेन्‍यू 3,30,180 करोड़ रुपए थी।
-पिछले वित्‍त वर्ष के मुकाबले नेट प्रॉफिट में 20.6 फीसदी की ग्रोथ।
-कंपनी के पास नगदी के रूप में 78,063 रुपए है जो दिसबंर तिमाही में 78,617 करोड़ रुपए था।
-रिलायंस रिटेल का प्रि-टैक्‍स प्रॉफिट 200 फीसदी बढ़ा।

Jio को 510 करोड़ का मुनाफा
चौथी तिमाही में रिलायंस Jio का मुनाफा बढ़कर 510 करोड़ रुपए हो गया है। तीसरी तिमाही में यह 504 करोड़ रुपए था। वहीं, इस दौरान Jio की आय 6879 करोड़ से बढ़कर 7128 करोड़ रुपए हो गई है।

Jio के अब तक 18.66 करोड़ ग्राहक हो चुके हैं। कंपनी ने बताया है कि इस तिमाही में ग्राहकों ने 506 करोड GB डाटा खर्च किया। इस प्रकार इसमें पिछली तिमाही की तुलना में 17.4 फीसदी ग्रोथ दर्ज की गई।

मुनाफा 17.26% बढ़ा
चौथी तिमाही के दौरान आरआईएल का मुनाफा 17.26 फीसदी बढ़कर 9435 करोड़ रुपए रहा है। यह अब तक का दूसरा सबसे ज्यादा कंसोलि‍डेटेड क्वार्टरली प्रॉफिट है। फाइनेंशियल ईयर 2017 की चौथी तिमाही में आरआईएल का मुनाफा 8046 करोड़ रुपए रहा था। वहीं, पिछली तिमाही में 9,423 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।

कंसोलिडेटेड सेल्स 29.34% बढ़ी
चौथी तिमाही में सालाना आधार पर आरआईएल की कंसोलिडेटेड सेल्स 29.34 फीसदी बढ़कर 1.20 लाख करोड़ रुपए रही। फाइनेंशियल ईयर 2017 की चौथी तिमाही में आरआईएल की कंसोलिडेटेड सेल्स 92889 करोड़ रुपए थी। वहीं, तीसरी तिमाही में आय 1.09 लाख करोड़ रही थी। इसके पहले 2013 की दिसंबर तिमाही में आरआईएल की कंसोलिडेटेड सेल्स 1.18 लाख करोड़ रुपए थी, जो सबसे ज्यादा थी।

रिटेल और डिजिटल में ग्रोथ की अपार संभावनाएं
रिजल्‍ट के बाद मुकेश अंबानी ने कहा कि रिटेल और डिजिटल में ग्रोथ की अपार संभावनाएं हैं। इन सेक्‍टर में निवेशकों को फायदा होगा। मुकेश अंबानी ने बताया कि Jio पहले साल ही मुनाफे में आया। उन्‍होंने कहा कि Jio का कॉल ड्रॉप टेलिकॉम इंडस्‍ट्री में सबसे कम है।