सस्ते कार लोन लेने के टिप्स, जानिए

0
21

अगर कार लोन लेने की सोच रहे हैं तो जरूरी है कि ब्याज दर, प्रीपेमेंट और फोरक्लोजर (निश्चित अवधि से पहले लोन की शेष रकम चुकाने) की लागत पर विचार करें। आपको बैंकों अथवा लोन देनेवाली कंपनियों को इन कसौटियों पर कसेंगे तो सबसे सस्ता लोन मिल जाएगा और आपकी अच्छी खासी रकम बच जाएगी…

कर्ज देनेवाली विभिन्न बैंकों/संस्थानों से पता करें कि आपको कहां कितनी रकम तक कार लोन मिल सकता है। यह पता करें कि किस बैंक या संस्था से कार की कुल कीमत का कुल कितना प्रतिशत लोन मिल जाएगा। कम-से-कम 20% रकम अपने पॉकेट से निकालें।

अब यह पता करें कि बाकी का 80% लोन कार की शोरूम प्राइस पर दिया जाएगा या ऑन रोड प्राइस पर।विभिन्न बैंकों/संस्थानों के ब्याज दरों की तुलना करें। संभव है कि आप अभी जिस बैंक से लेनदेन कर रहे हैं, वह आपको सबसे कम ब्याज दर पर लोन ऑफर करे।

ब्याज दर के अलावा दूसरे चार्जेज, मसलन प्रोसेसिंग फी, फोरक्लोजर चार्ज, पार्ट प्रीपेमेंट चार्ज आदि की भी जानकारी सभी बैंकों/संस्थानों से लें। अगर आपकी योजना प्रीपेमेंट की है तो लोन वहीं से लें जहां कम प्रीपेमेंट और फोरक्लोजर चार्ज देना पड़े।

लोन की अवधि एक से सात साल तक की हो सकती है। लंबी अवधि के लोन पर कम ईएमआई देना पड़ता है, लेकिन ब्याज ज्यादा भरना होता है। सुनिश्चित करें कि अगर कोई और लोन चल रहा हो तो सभी ईएमआईज मिलाकर आपकी सैलरी के 35 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो।

जब लोन की रकम चुका दें तो जहां से लोन ली है, वहां से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लें। इसकी एक कॉपी इंश्योरेंस कंपनी और आरटीओ दफ्तर को दें ताकि आपके नाम पर नया रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट जारी हो जाए।