Mission E: इलेक्ट्रिक कार फुल चार्ज पर जाएगी 500 किलोमीटर!

0
20

नई दिल्ली। जर्मन स्पोर्ट्सकार मेकर पोर्शे ने कंफर्म किया है कि वह अपनी मिशन ई कॉन्सेप्ट का प्रॉडक्शन वर्जन लाएगी। इस कार के जरिए कंपनी टेस्ला से मुकाबला करने को तैयार है। एक मीडिया इंटरव्यू में पोर्शे के सीईओ ओलिवर ब्लूम ने बताया कि प्रॉडक्शन मॉडल का एक्सटीरियर लगभग कॉन्सेप्ट मॉडल जैसा ही होगा। यह पोर्शे की पहली बैटरी-इलेक्ट्रिक कार होगी और ऐसी उम्मीद की जा रही है कि यह पोर्शे पनामेरा से थोड़ी छोटी होगी।

Mission E के जरिए इलेक्ट्रिक कार मार्केट में पोर्शे अग्रेसिव एंट्री करने की कोशिश करेगी। ग्लोबल मार्केट में इसे 2019 में और भारत में इसको 2020 में लॉन्च किया जा सकता है। पोर्शे के मुताबिक, प्रॉडक्शन मॉडल 600 हॉर्सपावर की ताकत जेनरेट करेगा। यह 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड लगभग 3.5 सेकंड्स में पकड़ सकती है। सिंगल चार्ज पर इस कार की रेंज 500 किलोमीटर की है।

Porsche Mission-E की हर साल लगभग 20,000 यूनिट्स बनाने का लक्ष्य है। पोर्शे भारत में इसे पूरी तरह से बाहर से ही बनवाकर इंपोर्ट करेगी। भविष्य को देखते हुए पोर्शे की नजर एलन मस्क की कंपनी टेस्ला पर है। टेस्ला ने इलेक्ट्रिक कारों में क्रांति ला दी है। अच्छी क्वॉलिटी और हाई परफॉर्मेंस वाली इलेक्ट्रिक कारों के मामले में अभी टेस्ला का कोई सानी नजर नहीं आता। अब ऐसा लग रहा है कि पोर्शे टेस्ला को टक्कर देने की पूरी तैयारी कर चुकी है।