बिटकॉइन एक्सचेंज पर सोमवार से लगेगा ताला, बेचने का आज आखिरी मौका

0
33

कानपुर।  बिटकॉइन सहित अन्य क्रिप्टो करेंसी रखने वालों के लिए बुरी खबर है। बिटकॉइन पर सरकार की टेढ़ी नजरों को देख देश का सबसे बड़ा क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज सोमवार से बंद हो रहा है। इसके बाद बिटकॉइन में निवेश करने वालों में खलबली मच गई है। अकेले कानपुर में ही 5 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किए गए हैं।

अगर आपने भी बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी में निवेश किया है तो तत्काल अपनी रकम निकाल लीजिए। इस आभासी मुद्रा का भारत में फिलहाल कोई भविष्य नहीं है। सरकार का रुख क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सकारात्मक नहीं है और ना ही इसे कानूनी मान्यता देने के दूर-दूर तक कोई आसार हैं।

एक तरफ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया बिटकॉइन को लेकर लगातार आगाह कर रहा है तो दूसरी तरफ आयकर विभाग ताबड़तोड़ नोटिस भेज रहा है। इसी का परिणाम है कि एक महीने में बिटकॉइन की कीमत गिरकर आधी रह गई हैं।

बिटकॉइन को लेकर बने नकारात्मक माहौल को देखते हुए क्रिप्टो टोकन मार्केटप्लेस बीटीसीएक्स इंडिया ने कहा है कि वह पांच मार्च सोमवार से ट्रेडिंग बंद कर देगा। अपने सदस्यों को भेजे ईमेल में कहा कि एक्सचेंज ने एक जनवरी 2018 से जमा नहीं लेने का फैसला किया था।

इस क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ने कहा कि एक जनवरी के बाद के डिपॉजिट्स निवेशकों के बैंक खाते में स्वतः वापस हो जाएंगे। जिन्होंने भी बीटीएक्स इंडिया में रजिस्ट्रेशन किया है, उन्हें 4 मार्च तक अपने पैसे निकाल लेने की सलाह दी गई है।

वर्ष 2013 में हैदराबाद में लॉन्च बीटीएक्स इंडिया क्रिप्टो टोकन्स एवं भारतीय रुपये में रियल टाइम ट्रेडिंग की सुविधा मुहैया कराता है। एक्सचेंज की तरफ से भेजे मेल में कहा गया है कि लॉन्चिंग के चार साल हो गए। इस दौरान 35 हजार से ज्यादा ग्राहकों को सेवाएं दीं और रिपल की कीमत 50 गुना जबकि इथेरियम की कीमत 100 गुना बढ़ी।

ईमेल में आगे कहा गया है, जैसा कि हमने बजट भाषण में सुना कि भारत सरकार क्रिप्टो करंसी ट्रेडिंग को बढ़ावा नहीं दे रही है। यही बात पिछले साल सरकार की कार्रवाइयों से भी स्पष्ट हुई थी। ऐसे में बिजनेस पर बहुत दबाव आ गया इसलिए एक्सचेंज को बंद किया जा रहा है।

ऐसे होता है कारोबार
बीटीसीएक्स इंडिया एक्सचेंज पर बिटकॉइन की ट्रेडिंग करने वालों के खाते हैं। एक्सचेंज की वेबसाइट पर जाकर वे लॉगइन कर सकते हैं। एक्सचेंज के वालेट के जरिये निवेशक बिटकॉइन की खरीद-फरोख्त करते हैं।

बिटकॉइन को वॉलेट के जरिये ही बेचा जा सकता है। बेचने पर मिली धनराशि पहले एक्सचेंज के पर्सनलाइज्ड खाते में आएगी, फिर ऑटोमेटिक आपके उस बैंक खाते में ट्रांसफर हो जाएगी, जो एक्सचेंज से कनेक्ट होगा।