किसानों को तेज धूप से गेहूं की फसल कम होने की आशंका

0
17

कोटा। मौसम बदलने के साथ ही तेज धूप गर्मी का एहसास करा रही है। इस बदलाव से किसान चिंतित हैं। किसान संगठनों का कहना है कि यह मौसम रबी सीजन की फसलों की उत्पादकता को प्रभावित करेगा। इससे फसलें 15 दिन पहले पक जाएगी, लेकिन दाना भी उम्मीद से कम होगा।

हालांकि कृषि विस्तार संयुक्त निदेशक पीके गुप्ता ने ऐसे आशंकाओं को नकारा रहे हैं। सीएडी कृषि विस्तार परियोजना के संयुक्त निदेशक बलवंत सिंह ने कहा है कि मौसम में तेजी हैं। ऐसी स्थिति सप्ताहभर और रही तो 5 से 10 फीसदी प्रोडक्शन प्रभावित होगा।

गेहूं में बालियां जल्दी निकल आएगी। जिससे फसल पकाव 15 दिन पूर्व होगा। जो दाना बनने की स्थिति में हैं वह उसके पतले रहने की संभावना रहेगी।हाड़ौती किसान यूनियन के महामंत्री दशरथ कुमार ने कहा कि सुबह शाम की ठंड फसलों की बढ़वार के लिए कारगर है। लेकिन 8 फरवरी तक मौसम वर्तमान जैसा बना रहा, तो प्रति बीघा गेहूं की फसल में प्रति  क्विंटल का उत्पादन घट सकता है।

भारतीय किसान संघ के प्रदेश सहमंत्री जगदीश शर्मा ने कहा कि अधिकतम तापमान 25 डिग्री की बजाय 27 डिग्री बना हुआ हैं। ऐसे मौसम में 20 फीसदी से ज्यादा गेहूं का प्रोडक्शन प्रभावित होने की आशंका है। ऐसे ही भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री मुकुट नागर ने बताया कि रबी सीजन की फसलें सरसों को छोड़कर गेहूं, धनिया, चना, मैथी, लहसुन सभी बढ़वार व पकाव की स्थिति में हैं। लेकिन किसानों को मौसम का साथ नहीं मिल रहा है।

पिछले चार दिन में यह रहा दिन का तापमान
26 जनवरी 27.2 डिग्री 
27 जनवरी 25.9 डिग्री 
28 जनवरी 26.3 डिग्री 
29 जनवरी 27.0 डिग्री