डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 फीसदी की बढ़ोतरी

0
7

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष के शुरुआती साढ़े नौ माह के दौरान डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 18.7 प्रतिशत बढ़कर 6.89 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया। टैक्स विभाग ने आज यह जानकारी दी है। केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा है, 15 जनवरी 2018 तक हुए डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन से पूरे वर्ष के लक्ष्य 9.8 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले 70 प्रतिशत से अधिक प्राप्ति हो चुकी है।

इसमें कहा गया है, ’15 जनवरी 2018 तक डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन के अस्थायी आंकड़ों में शुद्ध टैक्स वसूली 6.89 लाख करोड़ रुपये रही है। यह राशि एक साल पहले इसी अवधि में प्राप्त प्रत्यक्ष टैक्स के मुकाबले 18.7 प्रतिशत अधिक रही है।’ विज्ञप्ति के अनुसार 1 अप्रैल 2017 से 15 जनवरी 2018 की अवधि में ग्रॉस डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 13.5 प्रतिशत बढ़कर 8.11 लाख करोड़ रुपये हो गया।

इस दौरान करदाताओं को 1.22 लाख करोड़ रुपये का रिफंड दिया गया। सीबीडीटी ने कहा चालू वित्त वर्ष के दौरान डायरेक्ट टैक्स की वसूली में निरंतर सुधार दिखाई दिया है। वित्त वर्ष की पहली तिमाही में डायेरक्ट टैक्स वसूली 10 प्रतिशत, उसके बाद दूसरी तिमाही में 10.3 प्रतिशत और तीसरी तिमाही में 12.6 प्रतिशत बढ़ी है। 15 जनवरी, 2018 को इसमें 13.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

इसी प्रकार कुल शुद्ध डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन की यदि बात की जाए तो पहली तिमाही में एक साल पहले की इसी अवधि के मुकाबले 14.8 प्रतिशत, दूसरी तिमाही में 15.8 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 18.2 प्रतिशत और 15 जनवरी 2018 को 18.7 प्रतिशत अधिक रहा है।

विज्ञप्ति के अनुसार कॉरपोरेट कर संग्रह में इस दौरान पहली तिमाही में 4.8 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 10.1 प्रतिशत और 15 जनवरी 2018 को इसमें 11.4 प्रतिशत की वृद्धि रही। इस दौरान निवल कॉरपोरेट कर संग्रह जहां दूसरी तिमाही में 10.8 प्रतिशत बढ़ा है वहीं तीसरी तिमाही में इसमें 17.4 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई और 15 जनवरी 2018 को इसमें 18.2 प्रतिशत की शुद्ध वृद्धि रही।