बैंक अकाउंट से इन ऑनलाइन पेमेंट एप्स को न करें लिंक

0
15

नई दिल्ली । नोटबंदी के बाद से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। यूजर्स नकद के बजाय ऑनलाइन भुगतान करना सही समझते हैं। ऑनलाइन भुगतान के लिए गूगल प्ले स्टोर पर कई एप्स पहले से ही मौजूद थी। वहीं, नोटबंदी के बाद भी कई एप्स को पेश किया गया जिससे ऑनलाइन लेन-देन को काफी आसान बना दिया है इनमें भीम एप भी शामिल है।

क्या आप जानते हैं कि गूगल प्ले स्टोर पर कई फेक एप्स भी मौजूद हैं? इनमें कई ऑनलाइन भुगतान एप्स भी शामिल हैं। इस तरह की एप्स पर कभी भी आपको अपने कार्ड या अकाउंट डिटेल्स सेव नहीं करनी चाहिए। ऐसे में इन्हें डाउनलोड करने से पहले यूजर्स को सतर्क रहने की जरुरत है। फेक और रियल एप्प में फर्क करना बहुत जरूरी है।

यूजर्स को सतर्क रहने की जरुरत:
किसी भी एंड्रायड एप से ट्रांजैक्शन करने के बाद बैंक की डिटेल जरूर चेक करें क्योंकि कई बार हैकर्स सभी अकाउंट से छोटा-छोटा अमाउंट हैक करते हैं। इसका पता यूजर्स को आसानी से नहीं लग पाता है।

कभी-कभी यूजर्स को ऑनलाइन भुगतान एप पर अपनी अकाउंट या कार्ड डिटेल सेव नहीं करनी चाहिए। क्योंकि अगर वो फेक एप है तो आपकी जानकारी चोरी हो सकती है। एप डाउनलोड करने से पहले उसे अच्छे से जांच लें कि वो फेक है या रियल।

ऑनलाइन पेमेंट के लिए इन एप्स को कर सकते हैं डाउनलोड:
1. MobiKwik
यूजर इस एप में क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के जरिए पैसे जमा कर सकते हैं। साथ ही इससे मोबाइल रिचार्ज, शॉपिंग आदि भी की जा सकती है।
2. PayTM
ये एप 2014 में शुरु की गई थी। ये इस समय का सबसे बड़ा मोबाइल पेमेंट प्लेटफॉर्म है। इससे यूजर्स तेज और आसानी से पेमेंट कर सकते हैं। इसके वॉलेट में आप अपने कार्ड या अकाउंट से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।
3. Freecharge
ये ई-पेमेंट सर्विस है। इससे मोबाइल फोन, डीटीएच, डाटा कार्ड आदि रिचार्ज कराए जा सकते हैं। इसका हेडक्वाटर मुंबई में है।
4. Momoe
इसका हेडक्वाटर बेंगलुरु में है। इससे यूजर्स ऑनलाइन पेमेंट बड़ी आसानी से कर सकते हैं। ये सर्विस पहले रेस्टोरेंट में पेमेंट देने के लिए शुरु की गई थी।