उदयपुर में आठ करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी, पंजाब का व्यापारी गिरफ्तार

0
1165

उदयपुर। सेंट्रल जीएसटी टीम ने रविवार को उदयपुर में एक बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिय़ा। यहां टीम ने फर्जी इन्वॉयसेस (fake invoice) के आधार पर आयरन स्क्रैप (iron scrap) का व्यापार में करते हुए करोड़ो की जीएसटी चोरी (GST evasion worth crores) कर रहे एक व्यापारी को गिरफ्तार किया। टीम ने पंजाब मूल के अनिल कुमार अरोड़ा उर्फ सेंटी को गिरफ्तार किया, जो इस गिरोह का मास्टरमाइंड भी है।

दरअसल, अनिल फर्जी इनवॉयसेस बनाकर राजस्थान के कई शहरों से पंजाब (Punjab)में स्क्रैप का परिवहन करवा रहा था। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में सेंट्रल जीएसटी (Central GST investigation ) की टीम ने आरोपी अनिल कुमार पर 44 करोड़ के बिलों पर 7.97 करोड़ की जीएसटी चोरी भी पकड़ी हैं।

2 ट्रक भी जब्त
जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई में जीएसटी टीम ने आयरन स्क्रैप से भरे 2 ट्रक भी पकड़े हैं, जिन पर करीब 16 लाख का टैक्स अलग से बनाया गया। जीएसटी टीम के अधिकारियों की मानें तो आरोपी मार्च महीने में पंजाब के पवन कुमार शर्मा के पकड़े जाने के बाद से राजस्थान में इस कारोबार की कमान संभाले हुए था। गिरफ्तारी के बाद सेंट्रल जीएसटी की टीम आरोपी को उदयपुर से जोधपुर न्यायालय (Jodhpur court ) में पेश करने ले गई है। टीम ने आरोपी के उदयपुर आवास से लैपटॉप, मोबाइल फोन और अन्य दस्तावेज भी बरामद किए है।

आरोपी ने बना रखी थी दो फर्मे!
आरोपी अनिल बगैर बिल और बिना ई-वे बिल के ही आयरन स्क्रेप की खरीद-बेचान कर रहा था। यही नहीं इसके लिए उसने बालाजी सेल्स कॉपोरेशन और करनी एंटरप्राइजेज नाम की फर्मे भी बना रखी थी। आरोपी कम वक्त में ज्यादा कमाने के लालच में सरकार को जाने वाला करोड़ो रूपये का टैक्स बचाने के लिए यह सब कर रहा था।