कोल इंडिया 25 ऑक्सीजन प्लांट लगाएगी, कंपनी 35 करोड़ करेगी खर्च

0
869

नई दिल्ली। कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने कहा है कि वह कोविड-19 संकट को देखते हुए ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने के मकसद से 22 अस्पतालों में 25 ऑक्सिजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करेगी। इसके लिए कंपनी 35 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया ने एक बयान में कहा कि ये संयंत्र कोल इंडिया के खुद के अस्पतालों और उन जिला अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे, जहां उसकी चार अनुषंगियां 3,328 बिस्तरों की ऑक्सिजन जरूरतें पूरी करने के लिए काम कर रही हैं।

कोविड-19 के मामलों में आई तेजी के साथ भारत चिकित्सीय ऑक्सिजन की कमी का सामना कर रहा है। कंपनी ने बयान में कहा, “कोल इंडिया ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने के मकसद से 22 अस्पतालों में 25 ऑक्सिजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना के लिए 35 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है।”

कितनी होगी उत्पादन क्षमता
कोल इंडिया ने कहा कि जहां 20 संयंत्रों की कुल ऑक्सिजन उत्पादन क्षमता 12,700 लीटर प्रति मिनट से थोड़ा ज्यादा होगी, वहीं उसके चार संयंत्र मिलकर 750 घन मीटर प्रति घंटा ऑक्सिजन का उत्पादन करेंगे। इसके अलावा एक रिफिल संयंत्र है। कोल इंडिया महारत्न कंपनी है। कोल इंडिया ने यह भी बताया कि 25 संयंत्रों में से पांच संयंत्र कोल इंडिया के खुद के अस्पतालों में लगाए जा रहे हैं और उनसे 332 बिस्तरों की ऑक्सिजन जरूरतें पूरी होंगी। कंपनी इसके लिए 4.25 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है।